आंध्र प्रदेश के इस गांव में महिलाओं के नाइटी पहनने पर लग गई पाबंदी

Updated on 12 Nov, 2018 at 9:18 am

Advertisement

भारत में कुछ भी हो सकता है। ये हम नही यहां के गांव में बन रहे अजीबो- गरीब नियम कह रहे है, जिसके बारे में जानकर शायद आप भी हमारी तरह ये सोचने पर मजबूर हो जाएगें कि क्या वाकई में ऐसा भी हो सकता है। किसी को भी कपड़े पहनने की स्वतंत्रा उसे जन्म से ही मिली हुई है लेकिन अगर आपको कोई कहे की आप दूसरों की मर्जी के मुताबिक ही अपने आम कपड़े  पहन सकते हैं तो शायद आप इस बात को मानने में आना कानी करेंगे। लेकिन आंध्र प्रदेश का एक ऐसा गांव है जहां पर महिलाओं को नाइटी पहलने पर  रोक लगा दी गई है। ये सुनने में जितना अजीब आपके लिए है उतने ही हमारे लिए भी।

 

 


Advertisement

खबर है कि पश्चिमी गोदावरी जिले के थोडुकलपल्ली गांव के रहने वाले बुजुर्गो ने ग्रामीण महिलाओं के लिए एक अजीबो-गरीब फरमान जारी किया है। जिसके मुताबिक इस गांव की महिलाएं सुबह के 7 बजे से लेकर शाम के 7 बजे तक नाइटी नही पहन सकती। और जो महिलाएं इस नियम को नही मानेंगी उन्हें जुर्माने के तौर पर 2 हजार रुपये भरने पड़ेगे।

 

 

वहीं यह दकियानूसी फरमान लागू हुए कई महीने बीत चुके हैं, लेकिन लोगों की प्रतिक्रिया इसे लेकर अलग – अलग है। थोडुकलपल्ली गांव की ज्यादातर महिलाओं  को इस आदेश से कोई आपत्ति नही है वह इसे लेकर बेहद खुश है। उनका मानना है कि बुजुर्गो के बनाए इस नियम ने घर और बाहर पहनने वाले परिधानों की समय सीमा बांधी है जिससे रात में पहनने वाली नाइटी को दिन में ना पहना जा सके।

 

 


Advertisement

साथ ही इस नियम के लागू होते ही गांव की बुजुर्ग कमेंटी ने इनाम की भी घोषणा की है। जो भी दिन में नाइटी पहनी महिला की जानकारी देगा उसे 1000 रुपये का इनाम दिया जाएगा।

आपके विचार


  • Advertisement