हाईटेक सुरक्षा फीचर्स के साथ आया नया पैन कार्ड, पुराना ऐसे बदलें

author image
Updated on 16 Jan, 2017 at 2:15 pm

Advertisement

पर्मानेंट अकाउंट नंबर (पैन) कार्ड को लेकर होने वाले फर्जीवाड़े को रोकने के लिए केंद्र सरकार आधुनिक तकनीक से लैस पैन कार्ड लेकर आई है। सरकार ने नए डिज़ाइन वाले पैन कार्ड को 1 जनवरी से जारी करना शुरू भी कर दिया है। ये कार्ड नए आवेदकों को जारी किए जा रहे हैं।

इन नए पैन कार्ड में आधुनिक सुरक्षा फीचर्स होंगे, जिससे पैन कार्ड से किसी तरीके से छेड़छाड़ नहीं की जा सकेगी।

इस कार्ड में आधार कार्ड की तरह क्विक रेस्पॉन्स (OR) कोड जोड़ा गया है। इससे कार्ड को स्कैन करते ही कार्ड होल्डर की सारी डिटेल सामने आ जाएगी। इससे वेरिफिकेशन प्रोसेस आसान हो जाएगा।

आयकर विभाग के एक शीर्ष अधिकारी के मुताबिकः



“अब जो भी पैन कार्ड के लिए अप्लाई करेगा, उसे नए कार्ड दिए जाएंगे। साथ ही पुराने कार्ड होल्डर भी नए कार्ड के लिए अप्लाई कर सकेंगे। इसके लिए उन्हें नए सिरे से अप्लाई करना होगा, जिसके बाद उन्हें नए पैन कार्ड जारी किए जाएंगे।”

पहले के पैन कार्ड में नाम, पिता का नाम और जन्म की तारीख केवल अंग्रेजी भाषा में होती थी, लेकिन अब नए पैन कार्ड में यह सारी जानकारी हिंदी में भी होगी।

नए रूप वाले पैन कार्ड को एनएसडीएल तथा यूटीआई इन्फ्रास्ट्रक्चर टेक्नॉलजी ऐंड सर्विसेज लि. ने छापा है।

इस वक्त देश की 130 करोड़ आबादी है, लेकिन केवल 25 करोड़ लोगों के पास ही पैन कार्ड है। बैंक में अकाउंट खुलवाने से लेकर अन्य जरूरी कार्यों के लिए लोन, क्रेडिट कार्ड और कई सारी सरकारी योजनाओं के लिए पैन कार्ड होना जरूरी है। आयकर विभाग के अनुसार, हर साल केवल 2.5 करोड़ लोग पैन कार्ड के लिए आवेदन करते हैं, जिनमें नए और पुराने कार्ड होल्डर भी शामिल हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement