Advertisement

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस तस्वीर पर नेहरा ने कही अपने दिल की बात

author image
8:20 pm 2 Nov, 2017

Advertisement

तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने अपने 18 साल के लंबे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर पर विराम लगा दिया। उन्होंने अपना आखिरी इंटरनेशनल टी-20 मैच न्यू जीलैंड के खिलाफ खेला।

उनका यह फेयरवेल मैच भावुक क्षणों का गवाह बना। उनका परिवार और दोस्त इस मैच को देखने के लिए दिल्ली के फ़िरोज़ शाह कोटला पहुंचे थे।

नेहरा जी सुर्ख़ियों में छाए हुए है। उनके भारतीय क्रिकेट टीम को दिए गए योगदान के लिए हमेशा याद किया जाएगा। सोशल मीडिया से लकर अखबार और टी वी चैनल्स पर उन्ही कि खबरें छाई रहीं।

इसी बीच कोहली और आशीष नेहरा की 13 साल पुरानी एक तस्वीर इंटरनेट पर खूब वायरल हो रही है। इस तस्वीर में नेहरा एक कार्यक्रम में कप्तान कोहली को अवॉर्ड देते नजर आ रहे हैं।

 

बता दें कि 13 पहले साल पहले 2003 में अंडर-16 के एक मैच में अच्छा प्रदर्शन करने पर नेहरा ने विराट को पुरस्कार से सम्मानित किया था। यह तस्वीर उसी वक्त की है। यह टूर्नामेंट साल 2003 में दिल्ली के हरिनगर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में हुआ था। उस वक्त विराट कोहली महज 15 साल के थे।

इस तस्वीर के इतना वायरल होने के पीछे नेहरा ने कोहली की लोकप्रियता को माना है। उन्होंने कहाः


Advertisement

“मैं सोशल मीडिया पर नहीं हूं, लेकिन वह तस्वीर इसलिए इतनी लोकप्रिय हुई, क्योंकि विराट कोहली आज एक मुकाम पर हैं। अन्यथा यह तस्वीर दीवार पर होती और कोई इसके गुण नहीं गाता। अब वह तस्वीर विराट से ताल्लुक रखती है। यह तस्वीर कुछ 13 वर्ष पूर्व ली गई थी। जब मैं 2009-11 में खेल रहा था, तब विराट भी खेलने लगे थे। तब किसी ने इस तस्वीर के बारे में बात नहीं की।”

उधर, नेहरा के आखरी मैच में उन्होंने अन्य टीम के सदस्यों के साथ ग्राउंड का चक्कर लगाया और मौजूद लोगों का शुक्रिया अदा किया। इस दौरान पूरा स्टेडियम नेहरा-नेहरा की आवाज से गूंज रहा था।

कप्तान कोहली और शिखर धवन ने उन्हें अपने कंधे पर बैठा लिया। मैच प्रजेंटेशन में कोहली ने कहाः

“मैं जानता हूं कि वह कितने पेशेवर रहे हैं और कितनी मेहनत उन्‍होंने की है। वह इस तरह की विदाई के हकदार थे जब भीड़ उन्‍हें चीयर कर रही हो।”

नेहरा का करियर चोटों से काफी प्रभावित रहा है। उन्होंने अपने करियर में कुल 12 सर्जरी कराई हैं। नेहरा ने कई बार टीम से बाहर जाने के बाद वापसी की है।

2016 में उनके द्वारा की गई वापसी के बाद से उन्होंने खेल के छोटे प्रारूप में टीम को काफी कुछ दिया।

चोटों से वापसी करते हुए ही उन्होंने 2011 विश्व कप टीम में जगह बनाई थी और टीम को विजेता बनाने में रोल निभाया था। वह पिछले साल टी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली भारतीय टीम का भी हिस्सा थे।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement