नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी ने सस्ती दाल के लिए नही आतंकियों की मौत के लिए दिया अपना वोट?

author image
Updated on 16 Jul, 2016 at 4:51 pm

Advertisement

सोशल मीडिया पर झूठे पोस्ट और किसी भी सेलिब्रिटी का फ़र्ज़ी अकाउंट बना फेक पोस्ट करने का एक प्रचलन सा बन गया है। ऐसा ही एक मामला बॉलिवुड अभिनेता नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी के नाम से बनाए एक फर्जी अकाउंट द्वारा डाले गए एक झूठे पोस्ट का है। इसे फेसबुक और ट्वीटर पर जम कर शेयर किया जा रहा है।

इस पोस्ट में ‘नवाज़ुद्दीन’ के हवाले से महंगाई और आतंकवाद की अजीब तुलना की गई है। यह पोस्ट तब डाला गया, जब कश्मीर में हालात स्थिर नहीं हैं। ऐसे संवेदनशील पोस्ट का मकसद हिंसा बढ़ाना भी हो सकता है।

सबसे पहले पदम सिंह नाम के व्यक्ति ने इस तस्वीर को I Support Narendra Modi पेज पर पोस्ट किया। जिसके बाद यह वायरल हो गया। जैसा की आप तस्वीरों में देख सकते हैं कि नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी के हवाले से यह संदेश दिया गया है कि उन्हें बढ़ती महंगाई से कोई फ़र्क़ ‘नहीं’ पड़ता। और उन्होंने आम आदमी की भावनाओं को उकसाते हुए यह प्रश्न किया है कि उन्होंने क्या अपना वोट सस्ती दाल के लिए किया है? जबकि उन्होंने अपना वोट ‘आतंकियों’ को ‘मारने’ के लिए किया है। पोस्ट देखने के लिए यहाँ क्लिक करें


Advertisement

हालाँकि इस पोस्ट के डालने के बाद ही इसे खूब शेयर किया जा रहा है और लोग बिना इस पोस्ट की सच्चाई जाने नवाज़ुद्दीन की तारीफ कर रहे हैं। 

आपको बता दें कि यह तस्वीर ट्विटर पर पोल के रूप में डाले गए एक ट्वीट का एडिटेड स्क्रीनशॉट है, जिसे फ़ेसबुक पर नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी के बयान की तरह पेश कर दिया गया।

यही नही, इसके बाद पदम सिंह नाम के इस व्यक्ति ने नवाज़ुद्दीन के हवाले से I Support Narendra Modi के पेज पर एक और पोस्ट शेयर किया, जिसमें कश्मीरी पंडितों को संस्कारी बताया गया है। इसे भी लोग सोशल मीडिया पर खूब साझा कर रहे हैं। नीचे देखे इस पोस्ट का स्क्रीनशॉट।

जिस अकाउंट से इसे डाला गया उसका ट्विटर हैंडल [email protected] है। जबकि इस अकाउंट का संचालन जो भी कर रहा है, उसने साफ तौर पर कहा है कि यह नवाज़ुद्दीन का अनाधिकारिक अकाउंट है, जो इसी साल जून में शुरू किया गया है।

आपको बता दें कि नवाज़ुद्दीन ट्विटर पर अक्टूबर 2013 से ही ऐक्टिव हैं। उनका ट्विटर हैंडल [email protected]_S है।

हमारा मानना है कि वैचारिक रूप से कमजोर लोग ही झूठे तथ्यों, झूठी तस्वीरों का सहारा लेते हैं। और आज की तारीख में सोशल मीडिया पर फर्जी अकाउंट बनाना एक फैशन बन चला है। अगर आपको भी कोई ऐसी तस्वीर मिलती है, जिसका इस्तेमाल सोशल मीडिया पर गलत रूप से प्रचार और प्रसार गलत रूप से किया जा रहा है। तो आप हमें  यहाँ पर क्लिक कर के संपर्क कर सकते हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement