Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

झोपड़ी में रहती है राष्ट्रीय स्तर की यह खिलाड़ी, मां-बाप मजदूरी कर चलाते हैं घर

Updated on 11 July, 2016 at 1:34 am By

देश उम्मीद रखता है कि उसके खिलाड़ी ढेर सारे मेडल जीत कर लाएंगे, विदेशों में देश का नाम रोशन करेंगे। वो करते भी हैं, लेकिन बदले में खिलाड़ियों को क्या मिलता है!

देश का नाम रोशन करने वाली भारतीय महिला फुटबॉल अंडर-14 की कप्तान सोनी जिन हालातों में अपना गुजारा कर रही है, वह निराश करता है।


Advertisement

जब एक खिलाड़ी अपना खून-पसीना बहाकर देश का प्रतिनिधित्व कर उसे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ले जाता है, उसका खास महत्व होता है। लेकिन सत्ताधीशों को ये बात कहां समझ में आती है।

पश्चिम चंपारण जिला के नरकटियागंज के प्रकाश नगर निवासी मजदूर पन्नालाल पासवान की बेटी सोनी हाईस्कूल नरकटियागंज में 9वीं कक्षा की छात्रा है। इस छोटी सी उम्र में देश का नाम रोशन करने वाली सोनी और उसके परिवारवालों को खुले में शौच के लिए जाना पड़ता है। आस-पास शौचालय की कोई व्यवस्था ही नहीं है।

सोनी के पिताजी तांगा चलाया करते थे, लेकिन जब तांगा चलाने भर से भी घर का खर्च चलाना मुश्किल हो गया तो अब वह अपनी पत्नी के साथ मजदूरी कर रहे है। इस परिवार को एक वक़्त की रोटी भी ठीक से नसीब नहीं होती। ऐसी कठिन परिस्तिथियों में सोनी का इस मुकाम तक पहुंचना, वाकई बेमिसाल है। सोनी के सामने जो भी चुनौती आई उसने उन सब चुनौतियों को मुंहतोड़ जवाब दिया।

सोनी के इस जूनून की शुरुआत हुई 2010 में जब वह एक मैदान में खड़े होकर खेल रहे दूसरे छात्रों को देखा करती थी।



सोनी बताती है जब वह छात्रों को प्रशिक्षण लेते हुए देखती थी, तो उसके मन में भी खेलने को लेकर लालसा जागती थी, लेकिन वह खेल नहीं सकती थी, क्योंकि जिस घर में एक वक़्त की रोटी मिलना भी मुनासिब न हो, ऐसे में खेल के लिए ड्रेस व जूते कहां से लाती।

सोनी की लालसा, जूनून को उस वक़्त एक उम्मीद मिली, जब वहां खेल रहे छात्रों के कोच ने उसे खेलने को कहा। इसके बाद सोनी ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। सोनी इस खेल पर अपनी पकड़ मजबूत करती चली गई।

वह जिस मुकाम पर आज जहां पहुंची है, उसका पूरा श्रेय वह अपने कोच सुनील वर्मा को देती है।

soni

सोनी अपने प्रशिक्षक सुनील वर्मा के साथ biharkatha

सोनी की मेहनत के बदौलत उसे अंडर-14 भारतीय महिला फुटबॉल टीम का कप्तान चुन लिया गया। सोनी ने श्रीलंका में भारतीय महिला फुटबॉल टीम का प्रतिनिधित्व किया।

साथ ही  नेपाल में अंतर्राष्ट्रीय मैच में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करते हुए 2015 में बांग्लादेश को शिकस्त दे दी।


Advertisement

सरकार ने सोनी की मदद करने का वादा किया है। इस संबंध में DM लोकेश कुमार सिंह का कहना है कि सोनी को हर ज़रूरी मदद मुहैया कराई जाएगी। उसे सरकारी योजनाओं के लाभ दिए जाने की बात भी कही जा रही है।

Advertisement

नई कहानियां

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!


जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका

जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका


प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें

प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें


ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं

ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं


Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं

Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Women

नेट पर पॉप्युलर