पश्चिम बंगाल के सरकारी स्कूलों में राष्ट्रगान अनिवार्य; मदरसों में भी होगा गायन

author image
Updated on 15 Mar, 2016 at 4:25 pm

Advertisement

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की सरकार ने रोज पढ़ाई शुरू होने से पहले बच्चों के लिए राष्ट्रगान का गायन अनिवार्य कर दिया है। पश्चिम बंगाल माध्यमिक शिक्षा परिषद ने अपने इस आदेश के पीछे गत 3 मार्च को मद्रास हाईकोर्ट के एक फैसले का हवाला दिया है।

हालांकि माना जा रहा है कि कोलकाता के मदरसा के शिक्षक पर राष्ट्रगान के लिए छात्रों को प्रेरित करने के बाद मुस्लिम समुदाय के ही लोगों द्वारा हमला किए जाने के बाद से राज्य सरकार दबाव में थी।

रिपोर्टः मदरसा छात्रों से ‘जन-गण-मन’ गाने को कहा तो कट्टरपंथियों ने लोहे के रॉड से पीटा


Advertisement

यही वजह है कि राज्य के सभी सरकारी स्कूलों में राष्ट्रगान गायन को अनिवार्य कर दिया गया है। अब सभी मदरसों में भी छात्र राष्ट्रगान को प्राथमिकता देंगे।


इस बीच, पश्चिम बंगाल माध्यमिक शिक्षा परिषद के इस आदेश का काजी मासूम अख्तर ने स्वागत किया है। काजी का कहना है कि उन्होंने हमेशा ही अपने छात्रों को देशभक्त और अच्छा मुसलमान बनने के लिए कहा, लेकिन मदरसे की प्रशासनिक समिति ने स्थानीय लोगों को उनके खिलाफ भड़का दिया।

समिति ने अफवाह फैलाई कि काजी ने अपने छात्रों को आपत्तिजनक बातें सिखाई हैं।

इसके बाद ही स्थानीय लोगों ने उन पर हमला कर दिया। उन्हें लोहे की छड़ों से पीटा गया, जिस वजह से उनके सिर में गंभीर चोटें आई थीं। उन्हें महीनों अस्पताल में भर्ती रहना पड़ा था।

उस वारदात के बाद अब तक काजी मासूम अख्तर मदरसे में पढ़ाने के लिए नहीं जा सके हैं। सरकार और पुलिस ने भी उन्हें सुरक्षा देने से इन्कार कर दिया है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement