सूरज के रहस्यों को उजागर करेगा नासा का पार्कर सोलर प्रोब, जानिए 10 खास बातें

Updated on 13 Aug, 2018 at 6:16 pm

Advertisement

अंतरिक्ष के रहस्यों के अध्ययन के लिए तो अब तक कई स्पेसक्राफ्ट जा चुके हैं, लेकिन सूरज के बारे में ज़्यादा जानकारी जुटाने के लिए आज तक कोई भी यान उसके बहुत करीब नहीं पहुंच पाया है। ज़ाहिर है कि उसकी तपिश की वजह से ऐसा हुआ है, लेकिन अब नासा सूरज के रहस्यों से परदा उठाने के लिए उसके बहुद करीब एक स्पेसक्राफ्ट भेजने की तैयारी में है। चलिए आपको बताते हैं इससे जुड़ी अहम बातें।

 

1. अमेरिकी स्पेस एंजेंसी नासा ने अपना पहला सोलर मिशन ‘पार्कर सोलर प्रोब’ लॉन्च कर दिया है। यह सूरज के करीब जाकर इसका अध्ययन करेगा।

 

नासा का पार्कर सोलर प्रोब (nasa parker solar probe)

dailyheadlines


Advertisement

 

2. इस स्पेसक्राफ्ट पर नासा ने एक चिप लगाई गई है, जिसमें 11 लाख लोगों के नाम हैं।

 

 

3. सूरज के करीब जाकर मानव रहित स्पेसक्राफ्ट परिमंडल और आसपास के असामान्य वातावरण के रहस्यों से जुड़ी जानकारी जुटाएगा।

 

 

4. यान पहले शुक्र के चक्कर लगाएगा, फिर मंगल की कक्षा से होता हुआ सूरज की तरफ जाएगा।

 

 

5. इस यान को सूरज की गर्मी से बचाने के लिए साढ़े चार इंच मोटी अत्यंत शक्तिशाली शील्ड यान में लगाई गई है। यह शील्ड पृथ्वी पर सूर्य के विकिरण से 500 गुना ज्यादा विकिरण को झेल सकती है। 10 लाख डिग्री फॉरेनहाइट तापमान में शील्ड महज 2500 डिग्री फॉरेनहाइट के आसपास गर्म होगी।

 

 



6. यान कार के आकार का है और यह सूरज की सतह से 3 लाख मील की दूरी से गुजरेगा। इससे पहले किसी भी अंतरिक्षयान ने इतना ताप और इतने प्रकाश का सामना नहीं किया है।

 

 

7. पार्कर सोलर प्रोब यूनाइटेड लांच एलायंस डेल्टा 4 हैवी में सवार होकर उड़ान भरेगा।

 

 

8. सोलर प्रोब के साथ कई उपकरण भी लगे हुए हैं जो सूरज को अंदर और आसपास के बारे में अध्ययन करेंगे। यह 7 साल का अभियान है और इस दौरान अंतरिक्ष यान सूर्य के वातावरण से 24 बार गुजरेगा।

 

 

9. पार्कर सोलर प्रोब अमेरिका की जॉन्स हॉपकिन्स अप्लाइड फिजिक्स लैब में तैयार किया गया है और इसका नाम अमेरिकी खगोलशास्त्री यूजीन पार्कर के नाम पर रखा गया है।

 

 

10. अंतरिक्षयान में लगी चिप में 11 लाख लोगों के नाम है। दरअसल, मार्च में अंतरिक्षयान के साथ अपने नाम भेजने के लिए लोगों को आमंत्रित किया गया था।

 

 

अगर यह यान सफलता पूर्वक यात्रा कर पाता है, तो यकीनन सूरज के जुड़े कई रहस्यों पर स परदा उठ सकता है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement