NASA का बंगाल की छात्रा को स्कॉलरशिप देने से इन्कार; कहा झूठी है खबर

author image
Updated on 5 Mar, 2016 at 11:10 am

Advertisement

अमेरिका की स्पेस एजेन्सी नेशनल एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) ने पश्चिम बंगाल की छात्रा को स्कॉलरशिप देने से इन्कार किया है, जिसके बारे में कहा जा रहा था कि उसे गोगार्ड इंटर्नशिप प्रोग्राम (GIP) के लिए चुना गया है।

मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया था कि 18 वर्षीया सतपर्णा मुखर्जी को उसके ब्लैक होल थ्योरी पेपर की वजह से गोगार्ड इंटर्नशिप प्रोग्राम के लिए चुना गया है। इस रिपोर्ट में कहा गया कि सतपर्णा के इस पेपर को काफी पसंद किया गया है और अब वह नासा की मदद से ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में स्पेस साइंस की पढ़ाई करेंगी।

नासा ने इस बात का खंडन किया है कि सतपर्णा मुखर्जी नामक किसी छात्रा को नासा या इसके किसी अन्य सहायक संस्थान से स्कॉलरशिप दिया गया है।

गौरतलब है कि गलत रिपोर्ट के झांसे में न केवल मीडिया का एक वड़ा वर्ग आ गया, बल्कि सतपर्णा जिस विद्यालय में पढ़ाई कर रही हैं, उसके शिक्षक और शिक्षकेतर कर्मचारी भी इसे सच मान बैठे। यहां तक कि इस स्कूल की वेबसाइट के खुलते ही इस खबर का जिक्र होता है।


Advertisement

यहां तक मीडिया के बड़े वर्ग ने नासा को एक ईमेल तक भेजने की जहमत भी नहीं उठाई।

सतपर्णा अपने माता-पिता के साथ कोलकाता से करीब 30 किलोमीटर दूर कामदुनी गांव में रहती है। उसके पिता प्रदीप मुखर्जी सरकारी स्कूल में हेडमास्टर हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement