मधुबनी में 12 साल की मासूम बच्ची की नृशंस हत्या; लोगों में आक्रोश, इंसाफ की मांग

author image
Updated on 30 May, 2017 at 5:19 pm

Advertisement

बिहार के मिथिलांचल इलाके में 12 साल की एक बच्ची की जिस तरह से निर्मम हत्या की गई है, वह देश को शर्मसार करता है। मधुबनी के अंधरामठ थाना के महादेव मठ गांव से अगवा की गई नैंसी का शव जिस हालत में मिला वो झकझोर देने वाला है।

सातवीं कक्षा की छात्रा नैंसी की नृशंस तरीके से गला रेत एवं दोनों हाथ की नस काट कर हत्या कर दी गई है। उसकी हत्या करने से पहले उसके साथ दुष्कर्म करने की भी बात कही जा रही है। हालांकि, अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है।

final

 


Advertisement

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नैंसी एमएमपी पब्लिक स्कूल के डायरेक्टर रवींद्र नारायण की पुत्री थी। 25 मई को अज्ञात लोगों ने नैंसी का अपहरण कर लिया था। इस मामले में नैंसी के पिता ने अंधरामठ थाने में FIR दर्ज कराई थी।

परिवारवालों का आरोप है कि पुलिस प्रशासन ने इस मामले में ढिलाई बरती। पुलिस को 27 मई की शाम को गांव के ही तिलयुगा नदी से नैंसी का शव बरामद हुआ। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया।

नैंसी का शव जिस हालत में मिला उसके बाद से ग्रामीणों में आक्रोश है। लोगों ने नैंसी का शव लिए सड़क जाम कर, पुलिस प्रशासन से इस मामले में दोषियों को जल्द से जल्द पकड़, सख्त से सख्त सजा देने की मांग की है। इस घटना पर दुख व्यक्त करते हुए क्षेत्रीय विधायक लक्ष्मेश्वर राय ने पुलिस प्रशासन द्वारा समुचित कार्रवाई और निष्पक्ष जांच का भरोसा दिलाया है।

आखिरी में एक सवाल। हम कैसा समाज गढ़ रहे हैं जहां बेटियां सुरक्षित नहीं हैं ?

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement