नग्न होकर PMO के सामने क्यों प्रदर्शन कर रहे हैं तमिलनाडु के किसान ?

author image
Updated on 4 Sep, 2017 at 7:08 pm

तमिलनाडु के किसान आंदोलनकारी पिछले 28 दिनों से दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे हैं, हालांकि न तो सरकार और न ही प्रशासन ने अब तक इस पर ध्यान दिया है। सोमवार को आंदोलनकारियों के समूह ने नॉर्थ ब्लॉक में प्रधानमंत्री कार्यालय के समक्ष नग्न होकर प्रदर्शन किया। आंदोलनकारी कहते हैं कि तमिलनाडु के किसान सूखे और कर्ज से बेहाल हो गए हैंं और उन्हें अविलंब राहत की जरूरत है।

मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि किसानों का एक प्रतिनिधिमंडल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ज्ञापन देने के लिए PMO पहुंचा था। इन किसानों को दिल्ली पुलिस खुद जंतर-मंतर से लाई थी, जहां ये पिछले 28 दिनों से लगातार धरने पर बैठे हैं।

जब यह प्रदर्शन चल रहा था, उस वक्त प्रधानमंत्री में नहीं थे। हालांकि, ज्ञापन सौंपने के लिए ये किसान प्रधानमंत्री कार्यालय के अंदर गए। करीब 10 मिनट के बाद उनके दल का एक सदस्य अचानक पुलिस के वाहन से कूद गया और नग्न होकर सड़क पर दौड़ने लगा। इसी बीच कुछ अन्य किसान भी नग्न होकर नॉर्थ ब्लॉक की सड़क पर उतर गए।

दिल्ली में जंतर-मंतर पर प्रदर्शन कर रहे इन किसानों ने सरकार का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए कई उपाय किए हैं। कभी मरे हुए सांप को जीभ पर रखकर तो कभी नरमुंडों के साथ इन तस्वीरें मीडिया में प्रकाशित होती रही हैं। इसी समूह के 25 किसान अब भी आमरण अनशन पर बैठे हैं, जिनमें 3 की हालत बेहद खराब है।

क्या चाहते हैं किसान?

तमिलनाडु इन दिनों भीषण सूखे का सामना कर रहा है। कर्ज का बोझ किसानों की जिंदगी को और कठिन बना रहा है। किसान कहते हैं कि यहां खेतीहर लोग लंबे समय से आत्महत्या करने को अभिशप्त हैं, लेकिन सरकार ध्यान नहीं दे रही है। किसान कर्ज माफी के साथ राहत पैकेज की मांग कर रहे हैं। मद्रास हाईकोर्ट ने भी तमिलनाडु सरकार को किसानों का कर्ज माफ करने का निर्देश दिया है.

किसानों के समर्थन में दक्षिण भारत के कई सिने सितारे जंतर-मंतर तक पहुंच चुके हैं। इसके अलावा कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी प्रदर्शनकारी किसानों से मिलने के लिए गए थे।

आपके विचार