यह हैं नगालैंड की पहली महिला जिन्होंने सुप्रीम कोर्ट की कठिन परीक्षा AOR पास की

author image
Updated on 30 Aug, 2016 at 5:33 pm

Advertisement

एनातोलि सेमा, जो नगालैंड के कोहिमा इलाक़े से आती हैं, पहली ऐसी नगा हैं, जिनके नाम ऐड्वकेट-ऑन-रिकॉर्ड (AOR ) जैसी कठिन परीक्षा पास करने का गौरव हासिल हुआ है। उनका नाम सर्वोच्च न्यायालय द्वारा आयोजित इस परीक्षा मे उत्तीर्ण 165 उम्मीदवारों मे से एक है।

सेमा ने दिल्ली के प्रतिष्ठित सेंट स्टीफन कॉलेज से कला में स्नातक की डिग्री हासिल करने के बाद 2005 में दिल्ली विश्वविद्यालय से कैम्पस लॉ सेंटर का एक वर्षीय कोर्स भी पूरा किया था। सुप्रीम कोर्ट में अपनी प्रैक्टिस शुरू करने से पहले उन्हें नीरज किशन कौल जैसे वरिष्ठ वकील के चैम्बर में कार्य करने का भी अनुभव रहा है।

SuperLawyer के साथ एक साक्षात्कार में उन्होने साझा किया है कि कैसे उन्हें अपनी पहचान को लेकर समस्याएं आई। इसके बाद इन सवालों ने ही उन्हें प्रेरित किया कि वह अपना नाम और मुकाम खुद परिभाषित करें।


Advertisement

सेमा ने अदालती कार्यवाही के तौर तरीके पर भी बात की। उन्होंने बताया कि कैसे किसी मुक़दमेबाजी में सिद्धांत और व्यवहार में अंतर हो सकता है। सेमा कहती हैं कि मुकदमेबाजी  में समय लगना इसके कार्यवाही का हिस्सा है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement