Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

‘मुस्लिम महिलाएं जिम में वर्कआउट कर सकती हैं बशर्ते कि वे मेल ट्रेनर न रखें’

Published on 13 October, 2017 at 5:36 pm By

फतवे का बाजार गरम हो तो मुस्लिम समुदाय के लोग फूंक-फूंक कर चलना मुनासिब समझते हैं। मुस्लिम महिलाओं के बीच ‘वर्कआउट अंडर बुर्का का पैगाम’ फिटनेस के प्रति जागरूकता फैला रही है, तो साथ ही इसे धार्मिक चश्मे से खंगाल लिया गया।

क्या मुस्लिम महिलाएं जिम में जाकर वर्क आउट कर सकती हैं?


Advertisement

इस सवाल पर देवबंद के मदरसा जामिया हुसैनिया के मुफ्ती तारिक कासमी का जवाब था कि मुस्लिम महिलाएं ऐसा कर सकती हैं बशर्ते कि वे कुछ नियमों का पालन करें। मसलन पर्दे में वर्कआउट करें, म्यूजिक न सुनें, मर्द ट्रेनर न रखें इत्यादि।

मुफ्ती के अनुसार औरतों के फिटनेस के लिए इस्लाम में गुंजाइश हो सकती है। महिलाएं जिम जाती हैं तो जरूरी है कि वहां कोई गैर शरीय अमल न होता हो। इस्लामिक कायदों का समुचित ख्याल रखकर महिलाएं जिम जा सकती हैं। शरीर को फिट रखना सभी के लिए जरूरी है।



मुफ्ती ने स्पष्ट किया कि जब औरतें जिम में मौजूद हों तो वहां मर्द की मौजूदगी नहीं होनी चाहिए। जिम के अन्दर गाना-बजाना भी नहीं होना चाहिए। मुफ्ती ने ये भी कहा कि दो औरतें साथ में जिम करती हों तो एक दूसरे की सतर (जिस्म) को न देखें। औरतें दूसरी औरतों के सामने भी पर्दा करें, शरीर खुला न रखें।

गौरतलब है कि स्वास्थ्य के लिए मुस्लिम महिलाओं में भी जागरूकता आ गई है। पिछले दिनों भोपाल में महिलाएं वर्कआउट अंडर बुर्का का पैगाम देते हुए जिम जाने को बढ़ावा दे रही थीं। भोपाल में 70 लाख की लागत से बने सरकारी जिम की धूम मची है, जिसमें मुस्लिम महिलाओं के लिए खास इंतजाम किए गए हैं। महिलाओं की सहूलियत के लिए जिम में महिला ट्रेनर को रखा गया है।


Advertisement

याद दिला दें कि मुस्लिम महिलाओं द्वारा बुर्का में क्रिकेट खेलना सुर्ख़ियां बनी थी। अब ‘वर्कआउट अंडर बुर्का’ से साबित हो रहा है कि मुस्लिम महिलाएं बुर्का पहनने के बावजूद किसी भी फील्ड में पीछे नहीं रहना चाहती हैं।

Advertisement

नई कहानियां

अमीरों के ये बचत के तरीके अपनाकर आप भी बन सकते हैं अमीर

अमीरों के ये बचत के तरीके अपनाकर आप भी बन सकते हैं अमीर


कभी फ़ुटपाथ पर सोता था ये शख्स, आज डिज़ाइन करता है नेताओं के कपड़े

कभी फ़ुटपाथ पर सोता था ये शख्स, आज डिज़ाइन करता है नेताओं के कपड़े


किसी प्रेरणा से कम नहीं है मोटिवेशनल स्पीकर संदीप माहेश्वरी की कहानी

किसी प्रेरणा से कम नहीं है मोटिवेशनल स्पीकर संदीप माहेश्वरी की कहानी


इस फ़िल्ममेकर के साथ काम करने को बेताब हैं तब्बू, कहा अभिनेत्री न सही, असिस्टेंट ही बना लो

इस फ़िल्ममेकर के साथ काम करने को बेताब हैं तब्बू, कहा अभिनेत्री न सही, असिस्टेंट ही बना लो


इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा

इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर