दुर्घटना से बचाने के लिए आवारा कुत्तों को पहनाया रेडियम बैंड

Updated on 14 Aug, 2017 at 3:15 pm

Advertisement

मुंबई के आवारा कुत्तों को नया सहारा मिल गया है। फ्रेंडशिप डे पर शुरू हुए कैंपेन के जरिए निशा सुहंदा एक नेक काम कर रही हैं। वह मुंबई कुत्तों को रेडियम फ्रेंडशिप बैंड्स बांध रही हैं, जो रात को उन्हें दुर्घटनाओं से बचा सकते हैं।

कुत्तों को उनके गले के चारों ओर पट्टे की तरह रेडियम बैंड लगाया जा रहा है। इससे वो गाड़ी चलाने वालों को अंधेरे में भी नज़र आ सकेंगे और एक्सीडेंट कम होंगे। अब तक लगभग 250 कुत्तों को यह बैंड पहनाया जा चुका है।

मीडिया से मुखातिब होते हुए सुहंदा ने कहा कि हर रात सड़कों पर 45 से 50 कुत्ते एक्सीडेंट का शिकार होते हैं। रेडियम पट्टे से रात में सड़कों पर अंधेरा होने के बावजूद कुत्तों का मूवमेंट दिखेगा, जिससे वाहन चालक सतर्क हो जाएंगे और दुर्घटना को रोका जा सकेगा।



कैंपेन का हिस्सा बने एक युवा के अनुसार, कुत्तों के गले में पट्टा बंधना खतरनाक है। पहले तो हमलोग कुत्तों को आकर्षित करके उसे खाना खिलाते हैं फिर जो कुत्ता शांत दिखा उसे ही पहले पट्टा पहनने की कोशिश करते हैं। कुत्तों को बचाने का ये पहल पहली बार मुंबई में किया गया है।

हालांकि, यह आइडिया लोगों को पसंद आ रहा है। युवाओं के इस कैम्पेन से यह बात भी साफ हो रही है कि मानवता अभी बची हुई है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement