मां-बाप की आंख में धूल झोंककर कर रहा था ये काम, पोल खुली तो देर हो चुकी थी

Updated on 26 Nov, 2017 at 4:32 pm

Advertisement

अक्सर माता-पिता से छुप-छुपाकर बच्चे सिनेमा देखते हैं, नशा करते हैं या फिर घूमने जाते हैं लेकिन पंजाब के इस शख्स ने ऐसा झूठ बोला कि आप भी हैरान रह जाएंगे। उसने एक नाटक रचकर माता-पिता से झूठ बोला और आपराधिक कामों में खुद को संलग्न कर लिया। उसकी करतूत अब सबके सामने है।

दरअसल, हरदीप सिंह नाम का शख्स पुलिस की लिस्ट में मोस्ट वांटेड था और उसकी गिरफ्तारी ने उसके कारनामों का कच्चा चिट्ठा खोल दिया। वह आपराधिक कारनामों के लिए शेरा नाम से कुख्यात था। उसकी गिरफ्तारी के बाद सारा नाटक बाहर आ गया और सच्चाई का पता चल गया।

मामला ये है कि 21 वर्षीय हरदीप सिंह के माता-पिता बलविंदर सिंह और सुरिंदर कौर को भनक तक नहीं थी कि उनका बेटा मोस्ट वांटेड है। उनको हरदीप ने बता रखा था कि वह इटली में बस चुका है और वहीं इलेक्ट्रीशियन का काम करता है। वह समय-समय पर विडियो कॉल के माध्यम से उनसे संपर्क में रहता था।

हरदीप के माता-पिता को ये भी पता नहीं था कि उनके बेटे का नाम शेरा है। पुलिस ने बताया कि हरदीप ने 2012 में भटिंडा में पुलिस एंकाउंटर में मारे गए अपराधी शेरा खुब्बण के नाम से प्रेरित होकर अपना नया नाम शेरा रख लिया। हरदीप माता-पिता से काम के विषय में बात नहीं किया करता था।


Advertisement

पिता का कहना हैः

“हरदीप को अपने दम पर कुछ करने की ललक थी और इसके लिए उसने अपने बाल कटवा लिए थे। पंजाबी पगड़ी की वजह से नौकरी मिलने में दिक्कत होती थी। वो इटली में क्या काम करता है, उसके विषय में पूछने पर टाल-मटोल कर देता था।”

हरदीप की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि 2014 में इटली में हरदीप पहली बार मिंटू नामक शख्स से मिला जो उसे इन हत्याओं के लिए प्रोत्साहित किया। हरदीप के माता-पिता को अभी भी अपने बेटे पर लगे आरोपों पर विश्वास नहीं हो रहा है!

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement