Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

अब सुप्रीम कोर्ट के जजों की बौद्धिक क्षमता पर सवाल उठाए जस्टिस काटजू ने

Published on 19 September, 2016 at 2:32 pm By

Advertisement

सुप्रीम कोर्ट से सेवानिवृत्त जज जस्टिस मार्कन्डेय काटजू ने वर्तमान में सर्वोच्च न्यायालय के जजों की बौद्धिक क्षमता पर सवाल खड़े किए हैं।

अपने एक फेसबुक पोस्ट में जस्टिस काटजू ने कहा है कि वर्तमान समय में सुप्रीम कोर्ट के अधिकतर जजों का बौद्धिक स्तर बेहद कम है। अपने पोस्ट के माध्यम से काटजू ने आरोप लगाया कि अधिकतर जज अपनी योग्यता के कारण नहीं, बल्कि वरिष्ठता के नियम के चलते इतने ऊंचे पदों पर पहुंचे हैं।

अपने फेसबुक पोस्ट की शुरुआत कर जस्टिस काटजू लिखते हैं कि अब समय आ गया है जब भारतीयों को सर्वोच्च न्यायालय के अधिकतर जजों के बौद्धिक स्तर व बैकग्राउन्ड के बारे में बताया जाए।

जस्टिस काटजू लिखते हैंः


Advertisement

“जस्टिस चेलमेश्वर व जस्टिस नरिमन जैसे कुछ जज हैं जो अपने बौद्धिक स्तर व चरित्र दोनों ही मामलों में बहुत ऊपर हैं। लेकिन इनके अलावा सुप्रीम कोर्ट के अधिकतर जजों का बौद्धिक स्तर बेहद कम है। मैं ऐसा इसलिए कह सकता हूं क्योंकि मैं खुद साढ़े पांच साल तक सुप्रीम कोर्ट में जज था और इस दौरान मैं लगातार अपने सहकर्मियों से बातचीत किया करता था।”

काटजू लिखते हैं कि सुप्रीम कोर्ट के जज अधिकतर क्रिकेट व मौसम के बारे में बातें किया करते थे। इन जजों के बातचीत में कभी बौद्धिक मसलों का जिक्र नहीं आता था।

काटजू लिखते हैंः



“मुझे लगता है कि सुप्रीम कोर्ट के अधिकतर जजों को न्यायशास्त्र से जुड़े बड़े-बड़े नामों की जानकारी भी नहीं होगी। उन्हें यह भी नहीं पता होगा कि दुनिया भर में न्यायशास्त्रियों का क्या योगदान रहा है।”

अपने आरोपों को मजबूत करते हुए जस्टिस काटजू ने लिखा है कि भारत के मुख्य न्यायाधीश बनने के लिए कतार में खड़े जस्टिस दीपक मिश्रा बेहद कम उम्र में ओडिसा उच्च न्यायालय के जज बन गए थे। ऐसा उनके रिश्तेदार और भारत के पूर्व मुख्य न्यायाधीश रंगनाथ मिश्रा की वजह से हो सका था।

यही नहीं, काटजू लिखते हैं कि रंगनाथ मिश्रा भारत के भ्रष्ट जजों में से एक थे। दूसरी तरफ उन्होंने भारत के मुख्य न्यायाधीश बनने के लिए कतार में खड़े जस्टिस रमण की बात भी की।

उन्होंने लिखा है कि जस्टिस रमण अपने राजनैतिक संपर्कों के कारण आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट के जज बन गए। बाद में वह सुप्रीम कोर्ट के जज बन गए। ऐसा उनकी योग्यता के कारण नहीं, बल्कि वरिष्ठता के कारण हुआ था।

ये रहा जस्टिस काटजू का फेसबुक पोस्टः


Advertisement

Advertisement

नई कहानियां

प्यार की कश्ती लिए समुद्र किनारे पहुंचे फ़रहान-शिबानी, शेयर की हॉट तस्वीरें

प्यार की कश्ती लिए समुद्र किनारे पहुंचे फ़रहान-शिबानी, शेयर की हॉट तस्वीरें


सिद्धू के बचाव में आए कॉमेडी किंग कपिल शर्मा,  हैशटैग BoycottSiddhu को लेकर कही ये बात

सिद्धू के बचाव में आए कॉमेडी किंग कपिल शर्मा, हैशटैग BoycottSiddhu को लेकर कही ये बात


मैनेजमेंट का पाठ कोई इस पंचर वाले से सीखे, इस जुगाड़ से ठीक करता है गाड़ियों के पंचर

मैनेजमेंट का पाठ कोई इस पंचर वाले से सीखे, इस जुगाड़ से ठीक करता है गाड़ियों के पंचर


नया फ़ोन ख़राब होने पर इस शख्स ने जो किया, वो मोबाइल कंपनियों के लिए खतरे की घंटी है!

नया फ़ोन ख़राब होने पर इस शख्स ने जो किया, वो मोबाइल कंपनियों के लिए खतरे की घंटी है!


कियारा आडवाणी का ये ग्लैमरस अवतार छाया, हॉलीवुड स्टार केटी पेरी को दे रही हैं टक्कर

कियारा आडवाणी का ये ग्लैमरस अवतार छाया, हॉलीवुड स्टार केटी पेरी को दे रही हैं टक्कर


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर