बिक रही है दुनिया की सबसे महंगी नंबर प्लेट, कीमत जानकर आपकी आंखें फटी रह जाएंगी

Updated on 10 Apr, 2018 at 4:58 pm

Advertisement

सड़कों पर दौड़ती गाड़ियों के बीच आपने कई बार किसी खास नंबर की गाड़ी जरूर देखी होगी। हमारे देश में गाड़ियों के लिए खास नंबर लेने का चलन पिछले एक दशक में काफी बढ़ गया है। इनमें 786 या 1111 जैसे नम्बरों की मांग काफी अधिक होती है। इन नम्बरों की नीलामी होती है। साथ ही इन खास नम्बरों को आप मोटी कीमत देकर RTO कार्यालय से खरीद सकते हैं।

 

 

विदेशों की बात करें तो वहां लोग अपने मनपसंद नंबर के लिए करोड़ों रुपए तक खर्च करने को तैयार रहते हैं। ऐसा ही एक खास नंबर इंग्लैंड में बिक्री के लिए मौजूद है, जिसकी कीमत करोड़ों रुपए में हैं।

 

महज दो अक्षरों का यह नंबर F1 है, जो फार्मूला वन का छोटा रूप है। यह नंबर दुनिया के कई अलग-अलग देश के लोगों द्वारा काफी पसंद किया जाता है।

 

इसकी कीमत 132 करोड़ रुपये तय की गई है।

 

साल 1904 से इस नंबर का मालिकाना हक एक्सेस सिटी काउंसिल के पास था, जिसने साल 2008 में इसे 4 करोड़ रुपये में बेच दिया था।

 

मौजूदा समय में यह नंबर अफ़ज़ल खान नाम के व्यक्ति के पास है, जो कारों को कस्टमाइज करने वाले फर्म ‘खान डिज़ाइन’ का मालिक है।


Advertisement

 

 

अब तक इस नंबर का इस्तेमाल मर्सिडीज़-मेक्लेरन एसएलआर, कस्टम रेंज रोवर और बुगाटी वेरॉन जैसी कारों में किया जा चुका है।

 

यदि F1 नंबर 132 करोड़ रुपये में बिक जाता है तो यह अपने आप में एक विश्व रिकॉर्ड होगा।

 

फिलहाल दुनिया का सबसे महंगा नंबर होने का रिकॉर्ड दुबई में बिके D5 नंबर के नाम दर्ज है। इसे भारत के बलविंदर साहनी ने 67 करोड़ रुपये में खरीदा था।

 

 

आपको यह जानकर हैरानी होगी, लेकिन हमारे देश में भी लोग दोपहिया वाहनों के खास नम्बरों के लिए 5 हजार रुपए से लेकर 50 हजार रुपये तक खर्च करने से भी नहीं हिचकिचाते हैं। वहीं, चार पहिया वाहनों के लिए यह कीमत बढ़कर 15 हजार से 1 लाख रुपए तक पहुंच जाती है

कई दफा इन ख़ास नम्बरों के लिए बोली भी लगाई जाती है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement