Advertisement

भविष्य में आने वाले यातायात के इन आधुनिक साधनों से आपका सफर मिनटों में हो जाएगा पूरा

5:07 pm 17 May, 2018

Advertisement

आधुनिक युग में यातायात के साधनों को विकसित करने की दिशा में हर दिन नए प्रयोग किए जा रहे हैं। आज हम आपको यातायात के कुछ ऐसे नवीनतम साधनों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो किसी आश्चर्य से कम नहीं हैं। भविष्य में जल, थल और आसमान में चलने वाले ऐसे कई प्रकार के परिवहन साधन आपके लिए उपलब्ध होने वाले हैं, जो पलक झपकते ही आपको एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचा देंगे।

                                               हाइपरलूप ट्रेन

 

भारत में जल्द ही लोग हाइपरलूप ट्रेनों का मजा ले सकेंगे। चुंबकीय शक्ति पर आधारित इस तकनीक को जल्द ही देश में लॉन्च किया जाएगा। हाइपरलूप ट्रेन ट्यूब ट्रांसपोर्ट टेक्नॉलजी से चलती है। कहा जा रहा है कि  मुंबई के लोग जल्द ही इस तकनीक से चलने वाली ट्रेनों का लुत्फ उठा सकेंगे। अनुमान के मुताबिक, हाइपरलूप ट्रेन 1000 किलोमीटर का सफर महज 13 मिनटों में पूरा कर सकती है।

 

 

                                                  न्यूक्लियर कार

 

क्या आप जानते है कि न्यूक्लियर पावर से कारों को दौड़ाया जा सकता है। भले ही दुनियाभर में आज न्यूक्लियर ऊर्जा को बड़ा खतरा माना जाता हो, लेकिन जल्द ही न्यूक्लियर उर्जा से चलने वाली कारें आपको सड़कों पर दौड़ती नजर आएंगी। अमेरिका की एक निजी कंपनी इस तकनीक से चलने वाली कारों का निर्माण करनी की तैयारी में है।

 

                                           

                                                 सुपरकैविटेशन

 

पानी में चलने वाली इस पनडुब्बी  से 9,900 किमी की दूरी को मात्र 100 मिनट ही पूरा किया जा सकता है। नई सोवियत तकनीक पर आधारित इस पनडुब्बी का नाम सुपरकैविटेशन है। पानी पर दौड़ती ये पनडुब्बी रफ्तार और तकनीक का बेजोड़ मेल है।

 

                                                   मार्टिन जेटपैक

 

मार्टिन जेटपैक को वर्षों की कड़ी महनत के बाद मार्टिन नाम के एक व्यक्ति ने बनाया है। जमीन से ऊपर उड़ान भरता ये जेटपैक बहुत ही प्रभावशाली है। इसे साल 2010 में टाइम मैग्जीन के  टॉप-50 बेस्ट अविष्कारों में शामिल किया गया था। अब ये बाजार में व्यवसायिक रूप से खरीदारी के लिए पूरी तरह तैयार है।


Advertisement

 

 

                                                   स्काई लोन

साल 2013 में 90 मिलियन डॉलर के खर्च पर इस प्लेन को रिक्रिएट करने की घोषणा की गई। इस प्लेन की विशेषता ये है कि ये सुपर फास्ट प्लेन ध्वनि की गति से भी कई गुना तेज भागता है।

 

                                                   स्कारब मोटरसाइकिल

 

दिखने में बेहद आकर्षक ये मोटरसाइक्ल जीपीएस, रडार, सेंसर और कई अन्य आधुनिक उपकरणों से लैस है। स्पीड के मामले में भी ये आम बाइक्स से कहीं ज्यादा तेज दौड़ती नजर आएंगी।

 

                                                 सेल्फ-ड्राइविंग कार

 

दुनिया भर में इस कार पर अलग-अलग कंपनियां प्रयोग कर रही हैं। कार में ड्राइवर की कोई जरुरत नहीं होगी। ये सेल्फ-ड्राइविंग कार 2019 तक बाजार में उपलब्ध होगी।

 

                                                      स्काईट्रान

 

स्काईट्रान को नासा ने तैयार किया है। मैग्नेटिक फील्ड के जरिए चलने वाला ये प्लेन 250 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगा। इससे प्रदूषण नहीं के बराबर होगा।

 

 

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement