कैबिनेट की बैठक में नहीं बजेंगी मंत्रियों के मोबाइल फोन की घंटियां, जानिए क्यों

author image
Updated on 22 Oct, 2016 at 4:55 pm

Advertisement

अब कैबिनेट की बैठकों में मंत्रियों के मोबाइल फोन्स की घंटियां नहीं बजेंगी। दरअसल, केन्द्र सरकार ने कैबिनेट की बैठकों में मोबाइल फोन लेकर जाने पर पाबंदी लगा दी है।

सुरक्षा एजेन्सियों का मानना है कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में भारतीय सैन्यबलों द्वारा किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के बाद चीन और पाकिस्तान के हैकर्स मोबाइल फोन को हैक कर महत्वपूर्ण सूचनाएं लीक कर सकते हैं।

यही वजह है कि केन्द्र सरकार सावधानी बरतते हुए केंद्रीय मंत्रियों और बड़े अधिकारियों को कैबिनेट की बैठकों में मोबाइल फोन न ले जाने का निर्देश जारी किया है।

बताया गया है कि केंद्र सरकार ने सभी महत्वपूर्ण विभागों और मंत्रालयों के अधिकारियों और कर्मचारियों को निर्देश दिया गया है कि वे अपने मोबाइल फोन को चार्जिंग के लिए या अन्य काम के लिए कंप्यूटर या लैपटॉप का इस्तेमाल न करें।


Advertisement

इस तरह के कदम भारत में पहली बार केन्द्र सरकार ने उठाया है। हालांकि, ब्रिटेन व फ्रान्स सहित कई देशों में इस तरह के प्रतिबंध बहुत पहले से लागू हैं।

हाल ही में सर्जिकल स्ट्राइक के मसले पर अपना विचार रखते हुए रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा था: “ऑपरेशन के दौरान मैंने मोबाइल फोन का इस्तेमाल बंद कर दिया, ताकि किसी भी तरीके से महत्वपूर्ण जानकारियां लीक न हो।”

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement