सरकारी कैम्पेन में दिख रही यह बच्ची अपने कॉपी पर पाकिस्तान का झंडा बना रही है

Updated on 7 May, 2018 at 2:27 pm

Advertisement

सरकारी तंत्र की लापरवाही के किस्से आम हो चले हैं। इसमें भी जब बात बिहार की हो तो कहने ही क्या। वैसे भी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पाकिस्तान प्रेम चर्चा में रह चुका है, लेकिन इस बार मामला संगीन है। लिहाजा सरकार इस गलती को चाहकर भी नजरअंदाज नहीं कर पा रही है।

 

 

‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के तहत स्कूल में किताबों का वितरण किया जा रहा है। इसमें एक बच्ची की तस्वीर छपी है, जो अपने कॉपी पर पाकिस्तान का झंडा बना रही है। जब जांच हुई तो पता चला कि यह तस्वीर दरअसल पाकिस्तान की है।

विद्यालय के पाठ्य-पुस्तक में ये तस्वीर छपी है।

 

 

विवाद की शुरुआत बिहार के जमुई ज़िले से हुई है। जिला अधिकारी का कहना है कि यह काम ग्रामीण विकास प्राधिकरण को दिया गया था। उधर, अथॉरिटी के अफ़सरों ने अपनी गलती मानने के बजाए दोष क़िताबों की छपाई करने वाले को दे दिया। उनका कहना है कि तस्वीर बिना चेक करवाए छाप दिया गया है। मामला गरमाते देख नीतीश कुमार ने अधिकारियों से जवाब तलब किया है।

अब जांच होगी, इसके बाद ही दोषी को पकड़ा जा सकेगा।


Advertisement

 

 

प्रचार के जमाने में ऐसा अमूमन हो जाता है क्यों कि इंटरनेट से डाउनलोड कर तस्वीरों का धड़ल्ले से इस्तेमाल होता है। विज्ञापन जगत इस काम में कुछ ज्यादा ही लिप्त है। पिछले दिनों केंद्र सरकार के एक विज्ञापन में एक महिला की तस्वीर दो बार छाप दी गई और किरकिरी हुई।

यह विज्ञापन ‘देश भर में बिजली पहुंचाने’ के कैंपेन के तहत प्रकाशित हुआ था।

 

 

छोटी-छोटी गलतियों को तो खैर कोई नोटिस नहीं करता, लेकिन ये गलतियां बड़े स्तर पर थी। लिहाजा अब अधिकारीगण की फजीहत होगी ही।

बिहार में बहार है…नीतीशे कुमार है!

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement