भारत का मिनी स्विटजरलैन्ड है हिमाचल प्रदेश का खज्जियार

author image
9:54 am 8 Dec, 2015

Advertisement

चम्बा वैली में स्थित खज्जियार को हिमाचल प्रदेश का स्विटजरलैन्ड कहा जाता है। चीड़ और देवदार के ऊँचे-लंबे, हरे-भरे पेड़ों के बीच बसा खज्जियार है बेहद खूबसूरत। यहां आकर ऐसा लगता है मानो प्रकृति ने झील के चारों ओर हरी-भरी मुलायम और आकर्षक घास की चादर बिछा रखी हो।

दिल्ली से करीब 508 किलोमीटर की दूरी पर स्थित इस मनमोहक पहाड़ी स्थान पर पर्यटक आत्मिक शांति और मानसिक सुकून के लिए जाते हैं। एक अलग तरह के मौसम की मस्ती के लिए मशहूर खज्जियार पर्यटकों के लिए सपनों के शहर सरीखा है। मई और जून की चिलचिलाती झुलसाने वाली गर्मी से छुटकारा पाने के लिए लोग यहां जाना पसन्द करते हैं।

खास है खज्जी नागा मंदिर


Advertisement

खज्जियार की स्थापना कब हुई थी, इसका कोई लिखित उल्लेख नहीं मिलता। यहां स्थित है खज्जी नागा मंदिर। माना जाता है कि इस धार्मिक स्थल की स्थापना 10वीं शताब्दी में हुई थी। यहां नागदेव की पूजा होती है। इस मंदिर के बाहर पांडवों की लकड़ी की मूर्तियां स्थापित हैं। मान्यता है कि पांडव अपने अज्ञातवास के दौरान यहां आकर ठहरे थे। यह हिल स्टेशन समुद्र तल से 1951 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

खूबसूरत है खज्जियार लेक

खज्जियार में एक खूबसूरत झील है, जिसे खज्जियार लेक के नाम से जानते हैं। इस विशाल लेक के बीच दो छोटे टापू हैं, जिन पर पहुंचकर पर्यटक आनन्द ले सकते हैं। अप्रैल से जून महीने के बीच जाकर यहां इस लेक में बोटिंग का आनन्द लिया जा सकता है।

कालटोप वन्य जीव अभयारण्य

खज्जियार के ठीक नजदीक स्थित है कालटोप वन्य जीव अभयारण्य। चीड़ और देवदार के ऊंचे पेड़ों से आच्छादित इस अभयारण्य में कई दुर्लभ जंगली जानवर और पक्षियों को देख सकते हैं। पशु और पक्षी प्रेमी शैलानियों के लिए यह स्थान अद्वितीय है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement