गुजरात के इस गांव में भरे हैं करोड़पति, बैंक में जमा हैं अरबों रुपए

Updated on 24 Dec, 2017 at 10:35 am

Advertisement

गांव का जिक्र आते ही अमूमन वैसे इलाके का बोध होता है, जहां लोग बहुत ही साधारण और कम सुविधा में रहते हैं। उनका जीवन कृषि और इससे जुड़े कार्यों में लगा होता है। अगर आप भी ऐसा ही सोचते हैं तो यहां गलत हो सकते हैं। हम बात कर रहे हैं गुजरात के एक गांव की, जो शहरों को भी टक्कर देता है।

इस गांव का नाम है बल्दिया। यह गुजरात के कच्छ इलाके में स्थित है।

बल्दिया गांव को करोड़पतियों का गांव कहा जाता है। गौरतलब है कि एक ओर जहां गांव के लोग गरीब और पिछड़े समझे जाते रहे हैं, वहीं इस गांव में सभी करोड़पति हो गए हैं। लोगों की समृद्धि जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे। यह गांव कई शहरों से भी बेहतर बताया जा रहा है। यहां खूबसूरत मकान के अलावा तमाम ऐसी सुविधाएं मौजूद हैं जो किसी बड़े शहर में होती हैं।

रिपोर्ट की मानें तो इस गांव के लोगों के बैंक अकाउंट्स में अरबों रुपया जमा हैं। बता दें कि इस गांव के बैंकों में पिछले दो सालों में लगभग डेढ़ हजार करोड़ रुपए जमा हुए हैं। इतना ही नहीं यहां के डाकखानों में भी पांच सौ करोड़ रुपये से अधिक की राशि जमा है।

हालांकि गुजरात के कई गांव बेहद समृद्ध हैं, जिनमें बल्दिया से कुछ दूरी पर ही स्थित माधापुर नामक गांव का भी नाम आता है, जहां लगभग नौ बैंकों की शाखाएं हैं और दर्जनों की संख्या में एटीएम लगाए गए हैं। गांव के बाशिंदे अधिकतर पटेल बिरादरी से ताल्लुक रखते हैं।


Advertisement

माधापुर गांव के प्रमुख कहते हैंः

‘आर्थिक रूप में सम्पन्न होने के कारण ग्रामीण परिवार के साथ विदेशों में ही रहते हैं। हर साल छुट्टियां मनाने महीने-दो महीने के लिए गांव आते हैं। पैसे कमाने के लिए लोग अपने जीवन का एक लंबा समय विदेशों में बिताने के बाद वापस भारत आ जाते हैं। ऐसे गांव में रिटायर्ड बुजुर्ग ही दिखते हैं। इन गांवों में युवक बहुत कम ही दिखते हैं।’

अनुमान है कि गुजरात के इन करोड़पति गांवों से लोगों ने लगभग सौ साल पहले कमाने के लिए विदेशों का रुख किया था। ये लोग व्यापार आदि से संपन्न हो गए और विदेशों से वापस आकर बेहतर सोच के साथ अपने परिवार को आगे बढाने में लगे हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement