Apple नहीं रही दुनिया की टॉप कंपनी, इस अमेरिकन कंपनी ने पछाड़ा

7:29 pm 4 Dec, 2018

Advertisement

बीते कई सालों में पहले पायदान पर काबिज़ एेपल को माइक्रोसॉफ्ट ने पछाड़ दिया है। 16 सालों में पहली बार माइक्रोसॉफ्ट ने मार्केट कैप वैल्यू के मामले में ऐपल को पीछे छोड़ दिया है। बीते शुक्रवार को अमेरिकी शेयर बाज़ार बंद होने पर माइक्रोसॉफ्ट का वैल्यूएशन 851 अरब डॉलर पर रहा, जबकि एेपल का 847 अरब डॉलर दर्ज किया गया। साल 2002 के बाद पहली बार माइक्रोसॉफ्ट मार्केट कैप में टॉप पर आई है, वहीं एेपल ने साल 2010 में माइक्रोसॉफ्ट से नंबर-1 का ताज छीनकर पहला स्थान हासिल किया था और तब से वो लगातार टॉप पर बनी रही।

 

 


Advertisement

इस सप्ताह इंट्रा-डे में कई बार माइक्रोसॉफ्ट का मार्केट कैप एेपल से ज़्यादा दर्ज किया गया। बता दें इस साल अगस्त में एेपल एक ट्रिलियन डॉलर वाली पहली अमेरिकी कंपनी बनी थी।

 

वहीं नवंबर महीने के दौरान इसके शेयर में 16% की भारी गिरावट आई थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक बीते पांच सालों में एेपल के शेयर्स में तेज़ी से बढ़ोत्तरी हुई और इसी साल वो 1 ट्रिलियन डॉलर वैल्यू वाली कंपनी भी बनी।

 



 

वहीं बात अगर माइक्रोसॉफ्ट की करें तो कंपनी के स्टॉक बीते कुछ समय से अच्छे चल रहे हैं। 2014 में सत्य नडेला के माइक्रोसॉफ्ट ज्वाइन करने के बाद से ही कंपनी बेहतर स्थिति में आई है। बता दें माइक्रोसॉफ्ट की ज़्यादातर कमाई विंडोज़, सर्फेस और Xbox से होती है, जो कंपनी की कुल कमाई का 36 फीसदी है।

 

 

आईफ़ोन बनाने वाली कंपनी को माइक्रोसॉफ्ट से पिछड़ने के बाद बड़ा झटका लगा है। बताया जा रहा है कुछ समय के लिए माइक्रोसॉफ्ट दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी ज़रूर बनी है, लेकिन अभी भी दोनों के बीच पहले नंबर पर बने रहने की जंग जारी है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement