गांजे में है इंटरेस्ट तो फिर अमेरिका चले जाओ, वहां चल रहा है ‘गांजा डिग्री प्रोग्राम’

Updated on 18 Oct, 2017 at 11:45 am

गांजा से सबको, खासकर बच्चों को दूर रहने को ही कहा जाता है। इसे छिप-छुपाकर लोगों को पीते देखा होगा, लेकिन अब इसकी बकायदा पढ़ाई शुरू की गई है।

अमेरिका की उत्तरी मिशिगन युनिवर्सिटी इस अनोखे कोर्स को प्रस्तुत करने जा रही है। इसका नाम इस सेमेस्टर में ‘मेडिकल प्लांट केमिस्ट्री प्रोग्राम’ रखा गया है। युनिवर्सिटी के इस कोर्स की शुरूआत 12 छात्रों के साथ की जा रही है। इसके तहत विद्यार्थियों को केमिस्ट्री, बायोलॉजी, बॉटनी, मार्केटिंग, हॉर्टीकल्चर और फ़ाइनेंस जैसे विषय पढ़ाए जाएंगे।

चार साल के इस प्रोग्राम में छात्रों को गांजा के वैज्ञानिक और व्यावसायिक पक्ष के बारे में बताया जाएगा। दूसरी युनिवर्सिटीज़ में जहां गांजा की पॉलिसी और क़ानून के बारे में पढ़ाया जाता है, तो वहीं उत्तरी मिशिगन युनिवर्सिटी डिटेल कोर्स शुरू कर रही है।

इस कोर्स में दाखिल होने वाले एक छात्र एलेक्स ने बताया कि लोग इस कोर्स के बारे में सोचते हैं कि ये तो फनी होगा, लेकिन यह कोर्स बहुत ही मुश्किल है। गांजा के वैज्ञानिक फायदे और बिजनेस आदि को मिलाकर कोर्स ख़ासा कठिन है। इसको बहुत ही गंभीरता से पढ़ने की जरूरत है।

एक एसोसिएट प्रोफ़ेसर का कहना हैः

“चूंकि गाजा नशे के रूप में प्रतिबंधित है, इस प्रोग्राम में छात्रों को गांजा की खेती नहीं सिखायी जाएगी। इस कोर्स में उन पारंपरिक पौधों का अध्ययन शामिल है, जिन पर प्रतिबंध नहीं है। इन पौधों को मेडिसिनल वैल्यू के चलते बहुत किफ़ायती माना जाता है।”

कोर्स की थी जरूरत।

बता दें कि अमेरिका में गांजा का औषधि के रूप में भी उपयोग किया जाता है, जिससे क्रोनिक पेन, नौसिया, सीजर्स और ग्लूकोमा जैसी बीमारियों में राहत मिलती है। अमेरिका के 29 राज्यों में मेडिकल मैरीजुआना क़ानूनी बन चुका है। साथ ही 8 राज्यों में इसे रिक्रिएशनल तौर पर भी लीगल किया जा चुका है। ऐसे में इस कोर्स की जरूरत महसूस की जा रही थी।

आपके विचार