ट्रेन के डिब्बे पर लिखे इन नंबरों के बारे में जानते हैं आप?

Updated on 18 Jan, 2018 at 9:28 am

Advertisement

हम सभी कभी न कभी ट्रेन यात्रा कर चुके हैं। कई लोग तो ट्रेन यात्रा को बेहद पसंदीदा मानते हैं, क्योंकि लम्बी दूरी की ट्रेन यात्रा रोमांचक होती है। यात्रा में हमें कई तरह के लोग, कल्चर सहित अनेक जानकारियां मिलती हैं। ट्रेन के डिब्बे की बनावट खास होती है और इस पर लिखे गए नंबर का भी एक खास मतलब होता है। लोकल ट्रेन से लेकर किसी विशेष ट्रेन के डिब्बों पर एक ख़ास नंबर लिखा होता है। क्या आप जानते हैं कि उस नंबर का आखिर मतलब क्या होता है!

यूं तो हम ट्रेन के डिब्बों पर लिखे नंबर को जिज्ञासा से देखते रहते हैं, लेकिन इसके पीछे की कहानी पता नहीं कर पाते। आइए हम आपको बताते हैं कि ट्रेन के डिब्बों पर अंकित नंबर आखिर क्या इंगित करता है।

जान लें कि जिस ट्रेन का पहला नबंर 0 से शुरू होता है, वो स्पेशल ट्रेन होती है। होली, दीपावली या फिर विशेष मौकों पर चलने वाली ट्रेन के डिब्बों पर 0 से शुरू होने वाली कोई संख्या लिखी होती है। वहीं, एसी ट्रेनों का नंबर 1 से शुरू होता है। नंबर 2 वाले ट्रेन लम्बी दूरी के लिए होती हैं।

कोलकाता सब अर्बन की ट्रेनों के नबंर 3  से शुरू होने वाले अंक होते हैं!


Advertisement

इसी तरह 4 नबंर वाली ट्रेनों से चेन्नई, नई दिल्ली, सिकंदराबाद सहित अन्य मेट्रो सिटीज़ का पता चलता है, जबकि नबंर 5 कन्वेंशनल कोच वाली पैसेंजर ट्रेन होती है। नबंर 6 मेमू ट्रेन, 7 नबंर डूएमयू और रेलकार सर्विस के लिए उपयोग किया जाता है। साथ हे 8 नबंर आरक्षित स्थिति के बारे में बताता है।

मुंबई क्षेत्र की सब-अर्बन ट्रेनें 9 नबंर से शुरू होती हैं।

ये वो जानकारी थी जो अमूमन नहीं मिल पाती हैं। रोचक लगी हों तो दोस्तों को शेयर करें। आपकी यात्रा मंगलमय हो!

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement