बसपा समर्थकों की गलती को सही साबित करने के चक्कर में मायावती की बड़ी चूक!

author image
Updated on 22 Jul, 2016 at 7:18 pm

Advertisement

बहुजन समाज पार्टी के समर्थकों की गलती को सही साबित करने के चक्कर में मायावती बड़ी गलती कर गईं। वरिष्ठ भाजपा नेता दयाशंकर सिंह द्वारा खुद को अपशब्द कहे जाने के विरोध में उतरीं बसपा सुप्रीमो ने अपने पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा कहे गए अपशब्द को सही साबित करने की पुरजोर कोशिश की।

दयाशंकर सिंह के बयान के बाद यह माना जा रहा था कि इस एक बयान ने उत्तर प्रदेश में मरनासन्न बसपा को एक नई जिन्दगी दी है और एक मजबूत मुद्दा थमा दिया है। लेकिन, दयाशंकर की पत्नी स्वाति सिंह के मीडिया में आकर अपना पक्ष रखने से मायावती बैकफुट पर आ गई हैं।

बहस दयाशंकर से हटकर इस बात पर हो रही है कि गाली के बदले आखिर गाली क्यों?

सोशल मीडिया पर स्वाति सिंह के समर्थन में अभियान सा छेड़ दिया गया है। मेन स्ट्रीम मीडिया से लेकर ट्वीटर तक पर स्वाति को बढ़त मिलती दिख रही है। उन्हें लोगों का समर्थन मिलता दिख रहा है।

मायावती का इमोशनल कार्ड अब उनके ही खिलाफ जा सकता है।



मायावती के खिलाफ मुखर स्वाति ने आरोप लगायाः

“आज पूरा देश मायावती के इस रूप को देख रहा है। अगर मेरे परिवार को कुछ हो गया तो इसका जिम्मेदार कौन होगा। हमें धमकियां दी जा रही हैं, डर के मारे मेरे परिवार का घर से निकलना मुश्किल हो गया है।”

स्वाति के इस सवाल का बसपा सुप्रीमो के पास कोई जवाब नहीं है कि जिन बातों से मायावती आहत हो सकती हं, वहीं बातें क्या उन्हें आहत नहीं कर सकतीं? स्वाति कह रही हैं कि जो गलती उनके पति ने की है, उससे बड़ी गलती तो मायावती और उनके लोगों ने की है।

स्वाति का बयान आते ही भाजपा को भी बल मिला है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष केशव मौर्या ने कहा है कि दयाशंकर को उनकी गलती के लिए पार्टी से निकाल दिया गया है। बाकी काम कानून करेगा, लेकिन बसपा कार्यकर्ताओं को हद में रहना चाहिए।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement