एक क्लिक पर 200 सरकारी सेवाएं, मोदी सरकार की बड़ी पहल

author image
Updated on 22 Jun, 2016 at 5:03 pm

Advertisement

अब लगभग सभी सरकारी सेवाएं एक क्लिक पर उपलब्ध होंगी। जी हां, नरेन्द्र मोदी की सरकार एक ऐसे मास्टर ऐप पर काम कर रही है, जिसके जरिए 200 से अधिक सरकारी सेवाएं एक ही प्लेटफॉर्म पर मौजूद रहेंगी।

जिन सेवाओं के लिए लोगों को लंबी कतार में घंटों खड़े होना पड़ता है, या सरकारी दफ्तरों में इस काउन्टर से उस काउन्टर भटकना पड़ता है, वे सभी सुविधाएं स्मार्टफोन के जरिए एक ही क्लिक पर उपलब्ध होने वाली हैं।

इस एक प्लेटफॉर्म के जरिए, केन्द्र सरकार, राज्य सरकार, स्थानीय प्रशासन, इन्कम टैक्स, रेलवे टिकट बुकिंग और लैन्ड रिकॉर्ड सरीखे सभी जरूरी सेवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। इस ऐप का नाम दिया गया है उमंग।

आपने सही सुना है, इसका नाम होगा, यूनीफाइड मोबाइल एप्लीकेशन फॉर न्यू एज गवर्नेंस (UMANG)। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में स्मार्टफोन के बढ़ते उपयोग और डिजीटल इन्डिया परियोजना के तहत इस एप्लीकेशन को संचार और प्रद्यौगिकी मंत्रालय के ई-गवर्नेस्स डिवीजन द्वारा विकसित किया जा रहा है।

patrika

patrika


Advertisement

फिलहाल इस परियोजना के विकास और इसे प्रभावी तरीके से शुरू करने के लिए पार्टनर एजेन्सी की तलाश की जा रही है। इसके लिए सरकार ने टेन्डर भी जारी किया है।

उमंग पर इस तरह की सेवाएं उपलब्ध होंगी। ये रही सांकेतिक सूची।

1. नेशनल स्‍कॉलरशिप
2. महिला सुरक्षा (निर्भया)
3. स्वास्थ्य – देखभाल आवेदन
4. क्राइम और क्रिमीनल ट्रैकिंग नेटवर्क एंड सिस्टम
5. पासपोर्ट सेवा
6. इनकम टैक्‍स
7. सीबीएसई/राज्‍य शिक्षा बोर्ड
8. ई-नगर निगम
9. आईआरसीटीसी
10. यूटीलिटी बिल्स
11. कमर्शियल टैक्स/जीएसटी
12. पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम
13. ई-कोर्ट
14. लैंड रिकॉर्ड्स
15. पीएफ/एनपीएस
16. मदर एंड चाइल्ड ट्रैकिंग
17. ट्रांसपोर्ट-वाहन/सारथी
18. एम-किसान
19. आपदा प्रबंधन
20. ई पोस्ट



पहले साल उपलब्ध होंगी 50 सेवाएं।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, पहले साल इस प्लेटफॉर्म पर 50 सेवाएं उपलब्ध होंगी। बाद के अगले दो सालों में सेवाओं की संख्या बढ़ाकर 200 की जाएगी। बताया गया है कि राज्य सरकारें भी इस ऐप के जरिए अपनी सेवाओं की ब्रान्डिंग कर सकेंगी और यह ई-गवर्नेन्स के क्षेत्र में बड़ा कदम होगा।

हर चीज के लिए बस एक ऐप।

इस एप्लीकेशन के साथ मौजूदा सेवाएं जैसे आधार फॉर ऑथेंटिकेशन, ऑलनाइन पेमेंट प्लेटफॉर्म और सरकार का क्लाउड आधारित डॉक्यूमेंट मैनेजमेंट सिस्टम डिजीलॉकर भी इसके साथ जोड़े जाएंगे। इसे इस्तेमाल करने वाला व्यक्ति सरकारी सेवाओं के लिए आवेदन, अपनी पहचान को प्रमाणित, जरूरी दस्तावेज उपलब्ध और पूरी प्रक्रिया के लिए भुगतान स्मार्टफोन पर केवल एक ऐप के जरिए कर सकेगा।

प्राइवेसी का विशेष ध्यान।

उमंग ऐप में सुरक्षा और प्राइवेसी का विशेष ध्यान रखा गया है। इस एप्लीकेशन में कोई डाटा स्टोर नहीं जाएगा। यह बस एक एग्रीगेटर की तरह काम करेगा। इसलिए, प्रत्येक विभाग या मंत्रालय केवल अपना डाटा देख सकेंगे।


Advertisement

Tags

आपके विचार


  • Advertisement