शहीद मोहन नाथ गोस्वामी को अशोक चक्र, मार गिराए थे 10 आतंकवादी

author image
Updated on 27 Jan, 2016 at 4:46 pm

Advertisement

शहीद लांस नायक मोहन नाथ गोस्वामी को भारत के 67वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर अशोक चक्र से सम्मानित किया गया। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने उनकी पत्नी भावना गोस्वामी को यह सम्मान दिया। गोस्वामी ने 11 दिन तक चले संघर्ष में 10 आतंकवादियों को मार गिराया था।

Goswami_1

पिछले साल 2 सितम्बर को जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में स्थित फरूदा जंगल में आतंकवादियों से हुई मुठभेड़ के दौरान गोस्वामी घायल हो गए थे। इसके बावजूद उन्होंने दो आतंकवादियों को मार गिराया और अपने साथियों को बचा लिया।

Goswami_2


Advertisement

अशोक चक्र शांति काल में दिया जाने वाला सबसे बड़ा वीरता पुरस्कार है और इसे परमवीर चक्र के बराबर माना जाता है।



मूल रूप से उत्तराखंड के नैनीताल के रहने वाले लांस नायक मोहन नाथ गोस्वामी ने वर्ष 2002 में भारतीय सेना ज्वाइन की थी। वे सेना के विशेष बल में कमान्डो थे। शहीद होने के दौरान वह जम्मू-कश्मीर में पैराशूट रेजीमेंट की 9th बटालियन में तैनात थे।

Goswami_3

परिवार में उनकी पत्नी और सात साल की बेटी है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement