Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

ये एक शहीद की पत्नी का हौसला ही है, बोली- नहीं चाहिए सहानुभूति, मेरा पति पूरे देश का हीरो है

Updated on 27 February, 2019 at 4:13 pm By

एक जवान का परिवार उससे भी ज़्यादा मज़बूत होता है। ये वो हमेशा दिखाता आया है। उनका बेटा, पति, भाई या पिता तिरंगे में लिपटकर भी आता है तो वो उतनी ही मज़बूती से उसे अंतिम विदाई देते हैं, जितनी मज़बूती से वो उसे आर्मी में भेजते हैं। हाल ही में 14 फ़रवरी को पुलवामा में आतंकी हमला हुआ था, जिसमें करीब 40 जवान शहीद हो गए। इस हमले से पूरा देश शोकाकुल है। उसके बाद पुलवामा में ही आतंकियों से लोहा लेते हुए 6 जवान मातृभूमि की रक्षा करते हुए शहीद हो गए। इन्हीं में से एक थे मेजर विभूति ढौंडियाल।


Advertisement

 

 

जम्मू-कश्मीर में 55 राष्ट्रीय राइफल में तैनात मेजर ढौंडियाल की शादी 10 महीने पहले ही हुई थी। उनकी शादी की सालगिरह 19 अप्रैल को है और मेजर ने अपनी पत्नी निकिता से शादी की सालगिरह पर घर लौटने का वादा किया था, लेकिन वो घर तो लौटे पर तिरंगे में लिपटे हुए।

शहीद मेजर ढौंडियाल का पार्थिव शरीर उनके घर पहुंचाया गया। घर के बेटे का पार्थिव शरीर देख परिवार एका-एक टूट गया। लेकिन उस समय मेजर ढौंडियाल की पत्नी को देख सभी स्तब्ध रह गए। मेजर की पत्नी ने अपने पति को सैल्यूट करके विदा किया।

 

 


Advertisement

नितिका अपने पति के पार्थिव शरीर को निहारती रहीं। उनकी आंखों में आंसू नहीं, चेहरे पर गर्व झलक रहा था। पत्नी निकिता ने ताबूत में रखे अपने शहीद पति को फ्लाइंग किस देते हुए आई लव यू कहकर अंतिम विदाई दी। इस मंजर को देख पूरे देश की आंखें भर आईं।

 

 

इस वीडियो को देख लोग भी शहीद की पत्नी की हिम्मत की दाद दे रहे हैं।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

एक साल भी नहीं हुआ था शादी को

शहीद मेजर वीएस ढौंडियाल की शादी बीते साल अप्रैल में नितिका से हुई थी। नितिका दिल्ली में एक एमएनसी में काम करती हैं। वो सोमवार को ही देहरादून से दिल्ली के लिए रवाना हुई थीं। रास्ते में ही उन्हें इस बात की जानकारी मिली और वो आधे रास्ते से ही वापस देहरादून चली गईं। मेजर वीएस ढौंडियाल तीन बहनों में इकलौते भाई थे। उनके पिता का देहांत पहले ही हो चुका था।

 

 


Advertisement

बता दें इस मुठभेड़ में मेजर वीएस ढ़ौडियाल के अलावा चार सुरक्षाकर्मी और शहीद हुए हैं। साथ ही इस एनकाउंटर में 14 फ़रवरी को सीआरपीएफ़ काफ़िले पर हुए आत्मघाती हमले से जुड़े आतंकवादी कामरान सहित जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकवादी भी मारे गए।

Advertisement

नई कहानियां

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!


जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका

जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका


प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें

प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें


ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं

ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं


Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं

Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर