मुठभेड़ में शहीद हुए मेजर की पत्नी ने ठुकराई सरकारी नौकरी, अब होने जा रही हैं सेना में शामिल

author image
2:51 pm 14 Mar, 2017

Advertisement

मणिपुर में आतंकवादियों के साथ चल रही मुठभेड़ के दौरान भारतीय सेना के मेजर अमित देशवाल शहीद हो गए थे। राष्ट्रीय राइफल्स की स्पेशल फोर्स में शामिल मेजर अमित देशवाल पेट में लगी कई गोलियों के बावजूद अपने अंतिम सांस तक आतंकियों से लोहा लेते रहे।

अब देश के उसी जांबाज जवान की पत्नी भी भारतीय सेना में अपनी सेवाएं देने को तैयार है। मेजर अमित देशवाल की पत्नी अनीता देशवाल शॉर्ट सर्विस कमीशन ऑफिसर चयनित हुई हैं।

वह 1 अप्रैल, 2017 से आर्मी की ट्रेनिंग के लिए चेन्नई की ऑफिसर ट्रेनिंग एकेडमी ज्वाइन करेंगी।

martyr wife

शहीद अमित देशवाल अपनी पत्नी अनीता और बेटे के साथ



आपको बता दें कि मेजर अमित देशवाल के शहीद हो जाने के बाद हरियाणा सरकार ने अनीता के समक्ष  सरकारी नौकरी का प्रस्ताव रखा था। हालांकि, उन्होंने साफतौर पर सरकारी नौकरी के प्रस्ताव को ठुकराते हुए देश के हित में सेना में शामिल होने का फैसला किया।

सेना में शामिल होने को लेकर अनीता कहती हैंः

“मेरे पति मेरे लिए हीरो थे, अब सेना में शामिल होने के बाद कहीं न कहीं वे सदा मेरे साथ रहेंगे। मैंने अपने अंदर की आवाज सुनी और सेना में शामिल होने का निर्णय लिया। मेरे इस निर्णय का मेरे माता-पिता और ससुराल वालों ने पूरा समर्थन किया।”

अपने ससुराल के लोगों का साथ पाकर अनीता बेहद खुश हैं। अब ससुरालवाले नीता के तीन वर्षीय बेटे अर्जुन की देखरेख करेंगे।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement