भारतीय वायुसेना के मार्शल अर्जन सिंह ने भारत की पहली महिला फाइटर पायलटों को किया सम्मानित

author image
Updated on 14 Aug, 2016 at 3:21 pm

Advertisement

यह वाकई में एक खास क्षण रहा जब भारत की पहली तीन महिला फाइटर पायलटों ने देश के सबसे वरिष्ठ वायुसेना के योद्धा कहे जाने वाले अर्जन सिंह से मुलाकात की।

Arjan Singh

97 वर्षीय अर्जन सिंह पाकिस्तान के साथ 1965 की लड़ाई में वायुसेना की अगुआई करने वाले भारतीय वायुसेना के इकलौते मार्शल रहे।

वायुसेना से जुडी कई पीढ़ियों के लिए अर्जन सिंह एक प्रेरणा हैं। वह पहले ऐसे वायु सेना प्रमुख हैं, जिन्होंने इस पद पर पहुंचने तक विमान उड़ाना नहीं छोड़ा था और अपने कार्यकाल के अंत तक वह विमान उड़ाते रहे।

Arjan Singh

एक तरफ देश का यह जाबांज जवान और दूसरी तरफ 22 से 23 साल की तीन लड़ाकू पायलट। अर्जन सिंह ने तीनों पायलटों से अपने आवास पर मुलाकात कर उन्हें सम्मानित किया।


Advertisement

Arjan Singh

सभी बाधाओं को पार कर भारतीय वायु सेना के इतिहास में अपना नाम दर्ज करने वाली अवनी, भावना और मोहना को कई प्रशिक्षणों को पूरा करने के बाद अगले साल सुखोई और तेजस जैसे लड़ाकू विमान उड़ाने दिए जाएंगे।

Arjan Singh

महिलाएं वायुसेना में 1994 से अब तक केवल ट्रांसपोर्ट विमान और हेलीकॉप्टर ही उड़ाती रही हैं। पहली बार है कि ये तीन पायलट पहली बार लड़ाकू विमान उड़ा दुश्मनों से लोहा लेने के लिए तैयार होंगी।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement