गया में माओवादियों का आतंक; रेलवे पुल के बेस कैंप पर किया हमला, जला दिए कई वाहन

author image
Updated on 5 Sep, 2016 at 4:43 pm

Advertisement

नक्सली गतिविधियों का गढ़ माने जाने वाला बिहार के गया में कल देर रात माओवादियों ने तांडव मचाते हुए एक निर्माण कंपनी की आधा दर्जन गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया।

इस रिपोर्ट के मुताबिक, गया से मात्र 20 किलोमीटर दूर गया-वजीरगंज सड़क मार्ग के पैमार नदी पर एसपी मलिक कंपनी प्राइवेट लिमिटेड के बेस कैंप पर नक्सलियों ने हमला बोलते हुए करीब 6 गाड़ियों को आग लगा दी।

माआोवादियों ने दो हाईवा, एक पोकलेन मशीन, एक क्रेन, एक जेसीबी, एक हाईड्रा गाड़ी, एक सुमो और एक बाइक को आग के हवाले कर दिया।

माओवादियों ने छह महीने पहले कंपनी से वसूली देने को कहा था। पैसे न मिलने की स्थिति में अंजाम भुगतने की धमकी दी थी।

इस मामले की FIR मुफस्सिल थाना मे दर्ज कराई गई थी। इसके बाद कैंप पर पुलिस बल की तैनाती की गई थी। पिछले कुछ दिनों से पुलिस बल को हटा लिया गया था, जिसके बाद यह हमला हुआ है।


Advertisement

पुलिस ने कंपनी के कर्मचारियों के बयान के आधार पर मामला दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी है।


Advertisement

आपको यह सुनकर अचरज होगा कि बिहार में ग्रामीण क्षेत्रों में नक्सली निजी निर्माण कंपनियों, ठेकेदारों, व्यापारियों, व्यवसायियों और यहां तक कि सरकारी अधिकारियों से वसूली करते हैं। इसे माओवादियों की भाषा में लेवी कहा जाता है।

आपके विचार


  • Advertisement