Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

ममता ने मोहर्रम की वजह से दुर्गा मूर्ति के विसर्जन पर लगाई रोक

Published on 24 August, 2017 at 10:23 pm By

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर आरोप लगते रहे हैं कि वह मुस्लिम तुष्टीकरण को प्रश्रय देती हैं। चाहे मालदा में दंगे की घटना हो, या बशीरहाट में साम्प्रदायिक हिंसा, तृणमूल कांग्रेस की सरकार हमेशा बहुसंख्यक हिन्दुओं के खिलाफ और मुसलमानों के समर्थन में दिखती है। अब ममता बनर्जी के मुस्लिम तुष्टीकरण अभियान का ताजा मामला सामने आया है।


Advertisement

ममता बनर्जी सरकार ने इस साल मोहर्रम की वजह से दुर्गा पूजा के बाद होने वाले मूर्ति विसर्जन पर 30 सितंबर की शाम से 1 अक्टूबर की सुबह तक रोक लगा दी है।



मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया है कि इस वर्ष दुर्गा पूजा और मोहर्रम एक ही दिन है। इसलिए मोहर्रम के 24 घंटों को छोड़कर 2, 3 और 4 अक्टूबर को मूर्ति विसर्जन किया जा सकता है। ममता बनर्जी के आदेश का मतलब है कि कोलकाता में दशहरे के दिन हिन्दू समुदाय किसी तरह का जश्न नहीं मनाएगा। न तो सुहागिन महिलाएं सिन्दुर खेला में भाग लेंगी, न ही जुलूस निकलेगा और न ही ढोल-ताशे बजेंगे। इस दिन मुसलमानों को मातम मनाने की छूट होगी, क्योंकि इसी दशहरे के दिन मोहर्रम है।


Advertisement

कुछ इसी तरह का आदेश ममता बनर्जी ने पिछले साल भी जारी किया था। इस पर कलकत्ता हाईकोर्ट ने उन्हें फटकार लगाई थी और इस मामले को मुस्लिम तुष्टीकरण करार दिया था। हाईकोर्ट ने कहा था कि इससे पहले कभी विजयादशमी के मौके पर मूर्ति विसर्जन पर रोक नहीं लगी थी।

ममता बनर्जी के आदेश से कई सवाल उठ खड़े हुए हैं।


Advertisement

विजयादशमी यानी 30 सितंबर को दुर्गा पूजा का उत्सव खत्म हो जाएगा तो भला हिन्दू समुदाय मूर्ति विसर्जन क्यों करे?
क्या ममता बनर्जी को सिर्फ मुसलमानों की चिन्ता सता रही है?
क्या दशहरे को देखते हुए ममता बनर्जी मुसलमानों को मोहर्रम का मातम अगले दिन मनाने के लिए कह सकती हैं?
आखिर इस धर्म-निरपेक्ष गणतांत्रिक देश में हिन्दू और मुसलमान एक साथ अपना-अपना त्यौहार क्यों नहीं मना सकते?

Advertisement

नई कहानियां

अमीरों के ये बचत के तरीके अपनाकर आप भी बन सकते हैं अमीर

अमीरों के ये बचत के तरीके अपनाकर आप भी बन सकते हैं अमीर


कभी फ़ुटपाथ पर सोता था ये शख्स, आज डिज़ाइन करता है नेताओं के कपड़े

कभी फ़ुटपाथ पर सोता था ये शख्स, आज डिज़ाइन करता है नेताओं के कपड़े


किसी प्रेरणा से कम नहीं है मोटिवेशनल स्पीकर संदीप माहेश्वरी की कहानी

किसी प्रेरणा से कम नहीं है मोटिवेशनल स्पीकर संदीप माहेश्वरी की कहानी


इस फ़िल्ममेकर के साथ काम करने को बेताब हैं तब्बू, कहा अभिनेत्री न सही, असिस्टेंट ही बना लो

इस फ़िल्ममेकर के साथ काम करने को बेताब हैं तब्बू, कहा अभिनेत्री न सही, असिस्टेंट ही बना लो


इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा

इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर