Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

ममता बनर्जी के लिए ‘नंदीग्राम’ साबित होगा भांगड़ ?

Published on 18 January, 2017 at 11:25 am By

पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले में स्थित भांगड़ में विद्युत सब-स्टेशन के लिए जमीन अधिग्रहण के खिलाफ स्थानीय लोगों के आंदोलन ने हिंसक रूप ले लिया। इस घटना में दो लोगों की मौत हो गई है। पिछले दिनों ममता बनर्जी की सरकार ने विद्युत सब-स्टेशन के लिए जमीन अधिग्रहण किया था। अब ग्रामीण पावरग्रिड को बंद करने तथा अपनी जमीन की वापसी के लिए आंदोलन कर रहे हैं।


Advertisement

आंदोलनकारियों के दबाव में सरकार ने सोमवार को 300 करोड़ रुपए की पावरग्रिड परियोजना को बंद कर दिया था, और इसे स्थानांतरित किए जाने की बात कही जा रही है। हालांकि, मंगलवार को ग्रामीण एक साथ जुटे और राज्य सरकार का विरोध शुरू किया। पुलिस जब प्रदर्शनकारियों को शांत कराने पहुंची तो दोनों पक्ष एक-दूसरे से उलझ गए। ग्रामीणों से पुलिस पर ईंट-पत्थरों से हमला कर दिया।



इस घटना में दो आंदोलनकारी घायल हो गए, जिनकी बाद में मौत हो गई। अब तक यह साफ नहीं हो सका है कि इस घटना में आंदोलनकारी पुलिस की गोली से मरे या कोई और कारण था।

भांगड़ में राज्य सरकार के खिलाफ इस आंदोलन से पश्चिम बंगाल में नंदीग्राम और सिंगूर जमीन अधिग्रहण विवाद की यादें ताजा हो गईं हैं। जमीन अधिग्रहण के खिलाफ आंदोलन चलाकर राज्य की सत्ता में आने वाली तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ माहौल गर्म है। बंगाल के अलग-अलग जिलों में साम्प्रदायिक दंगों से जूझ रही राज्य सरकार को अब राज्य की अलग-अलग परियोजनाओं के लिए जमीन अधिग्रण के खिलाफ चल रहे आंदोलनों से भी दो-चार होना पड़ रहा है।

राज्य सरकार ने माना है कि बंगाल में जमीन अधिग्रण को लेकर लोगों में असंतोष है, हालांकि, सरकार ने लोगों पर पुलिसिया कार्रवाई से इन्कार किया है। राज्य के ऊर्जा मंत्री शोभनदेव चट्टोपाध्याय का कहना है कि अधिक मुआवजे की मांग को लेकर किसान आंदोलन कर रहे थे तो काम पहले से ही बंद करवा दिया गया था।


Advertisement

ऐसा बताने वालों की भी कमी नहीं है कि भांगड़ा का मामला तृणमूल कांग्रेस के ही दो गुटों के बीच संघर्ष का है। सूत्र कहते हैं कि स्थानीय तृणमूल नेता अराबुल इस्लाम व विधायक अब्दुर रज्जाक मोल्ला के बीच विधानसभा चुनाव के पहले से ही तनाव रहा है। दोनों गुटों के नेता व समर्थक आपस में कई बार भिड़ चुके हैं। गौरतलब है कि अब्दुर रज्जाक मोल्ला मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के कद्दावर नेता रहे है। उन्होंने विधानसभा चुनावों से ठीक पहले तृणमूल कांग्रेस का दामन थाम लिया था। अब कहा जा रहा है कि उनके गुट की अराबुल इस्लाम के गुट के साथ आए दिन झड़प होती रहती है।


Advertisement

भांगड़ में उपजे घटनाक्रमों को देखते हुए राजनीतिक समीक्षक यह मान रहे हैं कि सिंगूर और नंदीग्राम में जिन जमीन अधिग्रण विरोधी आंदोलोंनों के माध्यम से लोगों ने मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी को सत्ता से बेदखल कर दिया था, अब वही ममता बनर्जी के साथ भी होने जा रहा है। तो क्या ममता बनर्जी के लिए साबित होगा भांगड़ ‘नंदीग्राम’ साबित होगा?

Advertisement

नई कहानियां

Tamilrockers पर लीक हुई ‘छिछोरे’, देखने के साथ फ्री में डाउनलोड कर रहे लोग

Tamilrockers पर लीक हुई ‘छिछोरे’, देखने के साथ फ्री में डाउनलोड कर रहे लोग


Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!


जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका

जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका


प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें

प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें


ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं

ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर