रिकॉर्ड तोड़ दाम पर बिकी दार्जिलिंग की ये चायपत्ती, जापान ने खरीदा

author image
Updated on 29 Apr, 2017 at 7:05 pm

Advertisement

देश में दार्जिलिंग चाय की खेती के लिए मशहूर रहा है। इस क्षेत्र से चाय की विभिन्न किस्मों का उत्पादन होता है। लेकिन मकईबारी एक ऐसी चाय की किस्म है, जो भारत में सबसे महंगी चाय के रुप में सामने आई है।

मशहूर मकईबारी टी एस्टेट की हाथ से बनी चायपत्ती को रिकॉर्ड तोड़ दाम मिला है। 26 अप्रैल को एक प्राइवेट सेल में यह चायपत्ती 302 डॉलर (19,363 रुपये) प्रति किलो के दाम पर बिकी है।

अब तक सीजन के किसी भी टी प्लांट से पहली बिनाई वाली चायपत्तियों में किसी को इतना दाम नहीं मिला था।

155 साल पुराने मशहूर चाय बगान की इस मकईबारी चायपत्ती को मकईबारी जापान ने खरीदा है। मकईबारी जापान विशेष रूप से केवल मकईबारी चाय ही खरीदता है।

मकईबारी के चेयरमैन राजा बनर्जी ने इस चायपत्ती की विशेषताएं बताते हुए कहा-

“यह कोमल, सीजन की सबसे पहली बिनाई वाली, लसदार और फलों के स्वाद वाली चायपत्ती है, जो इसे औरों से अलग और ख़ास बनाती है।”


Advertisement

उधर इसके खरीदार मकईबारी जापान ने कहा-

“हमें मकईबारी से दुनिया की सर्वोत्तम चायपत्ती पाने की आश रहती है। यहां की सर्वोत्तम चायपत्ती के काफी वफादार जापानी ग्राहक हैं।”

आपको बता दे कि साल 2014 में दार्जिलिंग की यही मकईबारी चाय 1,850 डालर (करीब 1.12 लाख रुपए) किलो के भाव पर बिकी थी, जिसके साथ ही यह भारत की सबसे महंगी चाय बन गई।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement