महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री एकनाथ खडसे का इस्तीफा, गृहनगर में सड़क पर उतरे समर्थक

author image
Updated on 4 Jun, 2016 at 4:40 pm

Advertisement

भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री एकनाथ खडसे ने शनिवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। इस संबंध में राज्य के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात कर उन्हें स्थिति से अवगत करवाया था।

इस संबंध में फडणवीस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भी चर्चा की थी। बताया गया है कि इस मामले के भ्रष्टाचार से जुड़े होने की वजह से केन्द्रीय नेतृत्व से इसे गंभीरता से लिया था।

गौरतलब है कि खडसे पहले अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम से कथित रूप से संपर्क में होने की वजह से घिरे थे। बाद में उनका नाम जमीन घोटाले में सामने आया था। पिछले कुछ दिनों से उन पर कार्रवाई की तलवार लटक रही थी।

आज सुबह उन्होंने मुख्‍यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस से उनके आवास पर जाकर मुलाकात की और उन्हें अपना इस्तीफा सौंप दिया। उनके गृहनगर मुक्ताईनगर में उनके समर्थक सड़कों पर उतर आए। बताया गया है कि उनके समर्थकों ने अलग-अलग स्थानों पर वाहनों को रोक कर सड़क पर आगजनी की है।



मीडिया ट्रायल का आरोप

एकनाथ खडसे ने इस्तीफे के बाद स्वयं को बेकसूर बताते हुए खुद के मीडिया ट्रायल किए जाने का आरोप लगाया है। राजस्व मंत्री के पद से इस्तीफा देने के बाद एकनाथ खडसे ने एक संवाददाता सम्मेलन कर अपना पक्ष रखा। उन्होंने दावा किया कि उन पर जो आरोप लगाए गए हैं, वे पूरी तरह निराधार हैं। उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच होनी चाहिए।

गौरतलब है कि एकनाथ खडसे महाराष्ट्र में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं में से एक हैं। वह राज्य में गोपीनाथ मुंडे के निधन के बाद खडसे मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार थे, लेकिन नेतृत्व ने फडणवीस के नाम पर मुहर लगाई थी।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement