यह है सोलर इनर्जी से चलने वाला दुनिया का पहला इको-फ्रेन्डली क्रिकेट स्टेडियम

author image
Updated on 16 Dec, 2015 at 1:16 pm

Advertisement

चेन्नई का एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम सोलर इनर्जी का उपयोग करने वाला दुनिया का पहला क्रिकेट स्टेडियम बन गया है। स्टेडियम के पूर्वी स्टैन्ड की छतों पर सोलर पैनल लगाए गए हैं और इससे करीब 1700 यूनिट बिजली रोज मिल रही है।

इस तरह साल में इन पैनलों से करीब 6 लाख यूनिट बिजली मिलने का अनुमान लगाया जा रहा है। स्टेडियम के पश्चिमी छोर के छतों पर भी सोलर पैनल लगाए जाने की योजना बन रही है। काम पूरा होने के बाद यहां से करीब 18 लाख यूनिट बिजली मिलने लगेगी। फिलहाल इस प्लान्ट की क्षमता 400 किलोवॉट है।

thebetterindia

thebetterindia


Advertisement

कर्नाटक क्रिकेट एसोसिएशन के अधिकारियों का मानना है कि सौर ऊर्जा के इस्तेमाल से बिजली पर खर्च होने वाले करीब 40-50 लाख रुपयों की बचत होगी। और जब मैच नहीं होंगे तो यहां की बिजली पावर ग्रिड को भी सप्लाई की जा सकती है।

स्टेडियम के पूर्वी छोर की छतों पर सोलर पैनल लगाने में अब तक करीब 3 करोड़ रुपए खर्च हो चुके हैं। पश्चिमी छोर पर पैनल लगाने में सात करोड़ रुपए की लागत का अनुमान है।



सौराष्ट्र का स्टेडियम भी जगमगाया सौर ऊर्जा से

सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन (एससीए) का खंडेरी स्थित एससीए क्रिकेट स्टेडियम को देश का दूसरा इको फ्रेंडली क्रिकेट स्टेडियम बनने का गौरव प्राप्त हुआ है। जामनगर रोड़ स्थित इस स्टेडियम में 50 किलोवॉट पावर रूफटॉप प्रणाली स्थापित की गई है। एससीए की ग्रीन पॉवर जनरेशन के लिए इसकी ‍क्षमता बढ़ाने की योजना है।

यहां इस प्लांट के जरिए 6833 यूनिट बिजली प्रति महीने पैदा किए जाने की योजना है। इस तरह सौर ऊर्जा के जरिए साल भर में 82000 यूनिट बिजली पैदा करने का अनुमान है। इन अभिनव कोशिशों से सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन के बिजली बिल में करीब 54,600 रुपए की बचत होगी।

planetcustodian

planetcustodian


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement