जिन पर ‘स्वच्छ भारत’ की जिम्मेदारी है, उन्होंने सिर्फ 90 मिनट में स्टेडियम को कचरे से भर दिया

Updated on 10 Oct, 2017 at 10:17 am

Advertisement

‘हम नहीं सुधरेंगे’ वाली बात तब सही साबित हो गई जब एक महत्वपूर्ण मैच के दौरान लोगों ने स्टेडियम को कचरे से भर दिया। ‘स्वच्छ भारत अभियान’ के माध्यम से सरकार चाहे जो भी कर ले, जनता को जागरूक करना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन साबित हो रहा है।

दरअसल, दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में फ़ीफा अंडर-17 फुटबॉल वर्ल्ड कप के दौरान मात्र 90 मिनट के अन्दर लोगों ने कचरा कर दिया। भारत और अमेरिका के बीच मैच खेला जा रहा था, तो उधर लोग स्टेडियम को गंदा करने में जुटे थे। देखते ही देखते मात्र 90 मिनट के अंतराल में लोगों ने साफ़-सुथरे स्टेडियम को कचरे के ढेर में बदल लिया।

मामला बीते शुक्रवार का है जब विश्वकप के आगाज मैच में लोगों ने ये हरकत कर दी, जिससे स्वच्छता को लेकर एक बार फिर चिंता गहरा गई है। तस्वीरों में मैच शुरू होने से पहले और मैच ख़त्म होने के बाद स्टेडियम में आए अंतर को स्पष्ट देखा जा सकता है।



हम भारतीय साफ़-सफाई को एकदम तवज्जो नहीं देते, ये अफ़सोस की बात है। इतना ही नहीं विदेशी मेहमानों के सामने भी कचरा करने से हिचकते नहीं हैं। देश के छवि की चिंता तो दूर की बात है। स्टेडियम का मेंटिनेंस इंडियन फुटबॉल अथॉरिटीज के जिम्मे था, जिसे उसने बखूबी निभाया भी, लेकिन लोगों ने उस पर पानी फेर दिया।

ज्ञात हो कि बीते शुक्रवार को जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में आयोजित हुए फीफा अंडर-17 फुटबॉल वर्ल्ड कप मैच में अमेरिका ने भारत को 3-0 से हराया था। ये भारत के लिए एक ऐतिहासिक मौक़ा था, क्योंकि पहली बार फ़ीफ़ा के किसी टूर्नामेंट में भारत का राष्ट्रगान बजाया गया था।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement