Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

खाली पेट लीची खाने से हुई मौतें, रिसर्च में हुआ खुलासा

Published on 1 February, 2017 at 8:26 pm By

बिहार के मुजफ्फरपुर में रहस्यमय तरीके से फैली मष्तिष्क संबंधी बीमारी की वजह का पता चल गया है। इस बीमारी की वजह से वर्ष 2014 तक प्रतिवर्ष कम से कम 100 बच्चों की मौत हो गई। भारतीय और अमेरिकी वैज्ञानिकों की टीम ने पता लगाया है कि खाली पेट लीची खाने से लोगों को यह रहस्यमय बीमारी हुई थी। गौरतलब है कि मुजफ्फरपुर लीची की पैदावार के लिए विश्व-प्रसिद्ध है।


Advertisement

इस बीमारी को स्थानीय लोग चमकी के नाम के जानते हैं। प्रतिवर्ष जून महीने में शुरू होने वाली इस बीमारी की चपेट में आकर अब तक सैकड़ों बच्चों ने जान गंवाई है। वर्ष 2014 में ही इस बीमारी की चपेट में 390 बच्चे आए थे, जिनमें 122 बच्चों की मौत हो गई।

अब वैज्ञानिकों ने पता लगाया है कि जो बच्चे बीमार हुए या जिनकी मौत हुई, उन्होंने खाली पेट लीची खाई थी।



करीब तीन साल तक चले इस रिसर्च के नतीजे मशहूर विज्ञान पत्रिका लैंसेट ग्लोबल में छपे हैं। शोध में कहा गया है कि लीची में हाइपोग्लिसीन ए और मिथाइलेन्साइक्लोप्रोपाइल्गिसीन नाम का ज़हरीला तत्व होता है। अस्पताल में भर्ती बच्चों के खून और पेशाब में इन तत्वों की मात्रा मौजूद थी।

बीमार होने वाले अधिकतर बच्चों ने शाम को खाना नहीं खाया था और सुबह लीची खाई थी। ऐसी स्थित में इन तत्वों का घातक असर हुआ। बच्चों में कुपोषण होने की स्थिति में इस बीमारी का जल्द असर होता है। साथ ही इन बच्चों के अभिभावकों ने बताया कि लीचे के मौसम में बच्चे अधिकतर समय बागों में ही बिताते हैं। इस दौरान अपना सामान्य खानपान भी भूल जाते हैं।


Advertisement

इस संबंध में अब स्वास्थ्य विभाग ने एक निर्देश जारी किया है। बच्चों को सीमित मात्रा में लीची खाने की सलाह दी गई है और इससे पहले संतुलित भोजन लेने की सलाह दी गई है।

Advertisement

नई कहानियां

मां के बताए कोड वर्ड से बच्ची ने ख़ुद को किडनैप होने से बचाया, हर पैरेंट्स के लिए सीख है ये वाकया

मां के बताए कोड वर्ड से बच्ची ने ख़ुद को किडनैप होने से बचाया, हर पैरेंट्स के लिए सीख है ये वाकया


क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए

क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए


G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!

G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!


Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा

Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा


Charles Macintosh ने किया था रेनकोट का आविष्कार, कभी किया करते थे क्लर्क की नौकरी

Charles Macintosh ने किया था रेनकोट का आविष्कार, कभी किया करते थे क्लर्क की नौकरी


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Health

नेट पर पॉप्युलर