राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के बारे में 13 तथ्य जो प्रचारित नहीं हैं।

author image
Updated on 30 Jan, 2017 at 9:50 am

Advertisement

हम सभी को पता है कि मोहनदास करमचंद गांधी भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के एक महत्वपूर्ण नेता थे। अहिंसा का मूलमंत्र अपनाते हुए महात्मा गांधी ने न केवल भारत को आजादी दिलाई, बल्कि दुनिया भर के लोगों को उन्होंने नागरिक अधिकार अान्दोलन के लिए प्रेरित किया। आज हम यहां 13 उन कम-प्रचारित तथ्यों का जिक्र करने जा रहे हैं जो आपको शायद न पता हो। हम यहां आपको यह भी बताएंगे कि महात्मा गांधी को बापू या राष्ट्रपति क्यों कहते हैं।

1. महात्मा गांधी ने अपनी जीवनी में इस बात का उल्लेख किया है कि वह साहसी या बहिर्मुखी नेता नहीं थे।

वास्तव में वह एक शर्मीले थे और अपने स्कूल के दिनों में किसी से बात नहीं किया करते थे। कभी-कभी तो वह अपने स्कूल से भाग आते थे।

2. एक बार ट्रेन में चढ़ने के दौरान उनके एक पैर का जूता नीचे रेल की पटरी पर जा गिरा। स्थिति ऐसी थी कि गांधी जी अपना गिरा हुआ जूता नहीं निकाल सकते थे। तब उन्होंने अपना दूसरा जूता भी पहले जूते के पास फेंक दिया।

उन्हें लगा था कि ये जूते किसी जरूरतमंद के काम आ सकते हैं। यह वाकया गांधी जी में दया की भावना को दर्शाता है।

3. प्रतिष्ठित टाइम मैगजीन ने वर्ष 1930 में महात्मा गांधी को मैन ऑफ द ईयर करार दिया था।

4. गांधी जी रूसी लेखक और साहित्यकार लेव टॉल्सट्वाय के साथ पत्रों के जरिए हमेशा सम्पर्क में रहे थे।

5. गांधीजी आयरिश लहजे में अंग्रेजी बोलते थे। दरअसल उनका पहला शिक्षक एक आइरिश व्यक्ति ही था।

eegai

6. अफ्रीका में रहने के दौरान गांधी जी वार्षिक आय 15 हजार डॉलर से अधिक थी।

इतनी बड़ी आय उन दिनों अधिकतर भारतीयों के लिए एक सपना सरीखा था।

7. सिर्फ यह देखने के लिए कितना कम खाकर भी वह स्वस्थ रह सकते हैं, गांधी जी ने अपने भोजन पर कई प्रयोग किए। वह सिर्फ फल और बकरी का दूध लेते थे।

8. गांधी जी को अपनी मातृभाषा से बेहद प्रेम था। यही वजह है कि उन्होंने अपनी जीवनी गुजराती में लिखी। बाद में उनके सहायक ने इसका अनुवाद अंग्रेजी में किया था।

creativegreeius

9. गांधी जी जीवन में शुक्रवार का खासा महत्व था। गांधी जी का जन्म शुक्रवार को हुआ था। भारत को स्वतंत्रता शुक्रवार को मिली। गांधी जी हत्या भी शुक्रवार को ही हुई।

10. गांधी जी फोटो खिंचवाना पसन्द नहीं था। लेकिन सच्चाई यह थी कि उस दौर में वही एक मात्र ऐसे व्यक्तित्व थे, जिनकी सबसे अधिक फोटो खींची गई थी।

11. गांधी जी की लिखावट बेहद खराब थी। इसके लिए वह हमेशा चिन्तित रहा करते थे।

12. संयुक्त राष्ट्र ने महात्मा गांधी के जन्मदिवस 2 अक्टूबर को अंतर्राष्ट्रीय अहिंसा दिवस घोषित किया है।

13. गांधी जी के पास नकली दांतों का एक सेट था, जिसे वह अपनी धोती में बांध कर रखा करते थे।


Advertisement

वह इसे तब लगाया करते थे, जब उन्हें भोजन करना होता था। भोजन के बाद वह इसे निकाल कर साफ करते थे और फिर अपनी धोती में बांध लेते थे।

यह गांधी जी का पहला साक्षात्कार है। आप उनके जवाब पर ध्यान दीजिए। उनके जवाब में न केवल कूटनीति झलकती है, बल्कि आप उनकी नम्रता के कायल भी हो जाएंगे।

विडियोः रेयरइंडियाफोटोज

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement