Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

संकटग्रस्त रोहिंग्या मुसलमानों के लिए सिखों ने शुरू किया ‘लंगर’

Published on 15 September, 2017 at 6:30 pm By

रोहिंग्या मुसलमानों पर हो रहे अत्याचार की खबरें लगातार मीडिया में आ रही हैं। म्यांमार से निकाले जाने के बाद बड़ी संख्या में रोहिंग्या मुसलमानों के पास न जमीन बचा और न छत। ऐसे में एक स्वयंसेवी संस्था म्यांमार-बांग्लादेश सीमा पर उनके लिए ‘लंगर’ का आयोजन कर रही है।


Advertisement

जाति और धर्म से परे जाकर सिख स्वयंसेवकों का यह समूह मानव-धर्म निभा रहा है। सीमा पर देश निकाला झेल रहे रोहिंग्या मुसलमानों के लिए डूबते को तिनके का सहारा बनकर आया है ‘द खालसा एड’। इनके द्वारा आयोजित लंगर में रोज लगभग 35 हजार रोहिंग्या मुसलमानों को भोजन कराए जाने का लक्ष्य रखा गया है।



यह लंगर पिछले चार दिनों से चल रहा है। बांग्लादेश के तेकनाफ में बना गए शरणार्थी शिविर में खालसा एड के स्वयंसेवक भोजन-पानी शरणार्थियों तक पहुंचा रहे हैं। इसे ‘गुरु का लंगर’ भी कहा जा रहा है। लंगर परोसने से पहले यहां गुरु की अरदास की जाती है, फिर शरणार्थियों की सेवा में लगे हुए कार्यकर्ता लोगों में भोजन बांटते हैं। वे इस प्रयास में रहते हैं कि कैम्प में कोई भी भूखा न सोये।


Advertisement

ये लोग सही में मानवता की मिशाल पेश कर रहे हैं। एक तरफ खुद के देश से निकाले जाने के बाद उन्हें कोई भी देश शरण देने को राजी नहीं है, वहीं ‘खालसा एड’ का यह कदम काबिल-ए-तारीफ़ है।

Advertisement

नई कहानियां

Tamilrockers पर लीक हुई ‘छिछोरे’, देखने के साथ फ्री में डाउनलोड कर रहे लोग

Tamilrockers पर लीक हुई ‘छिछोरे’, देखने के साथ फ्री में डाउनलोड कर रहे लोग


Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!


जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका

जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका


प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें

प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें


ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं

ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर