बिहार दिवस में शामिल नहीं हुआ लालू परिवार, कहीं यह नीतीश से संबंधों के अंत की शुरुआत तो नहीं

author image
Updated on 23 Mar, 2017 at 1:12 pm

Advertisement

लालू प्रसाद यादव और नीतीश कुमार के बीच संबंध खट्टे-मीठे रहे हैं। बिहार में लालू के नेतृत्व में राष्ट्रीय जनता और नीतीश के नेतृत्व जनता दल यू ने भले ही महागठबंधन बना कर सत्ता हासिल की हो, लेकिन इन दोनों के बीच मतभेद की खबरें आम हैं। नीतीश जहां अपने विकासवादी एजेन्डे के लिए जाने जाते हैं, वहीं, लालू प्रसाद एक दागी नेता की अपनी छवि से अब तक मुक्ति नहीं पा सके हैं। राजनीतिक हलकों में इन दोनों दलों के गठबंधन को हमेशा ही बेमेल माना गया है। दोनों दलों के बीच विवाद की नई कड़ी शुरू हुई है।

बहुचर्चित बिहार दिवस के कार्यक्रम में लालू परिवार नहीं दिखा और इस पर राजनीति नए सिरे से गरमा गई है। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि बिहार दिवस के जो निमंत्रण कार्ड छपवाए गए थे, उनमें उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव का नाम नहीं था। यही वजह है कि न तो तेजस्वी इस कार्यक्रम में उपस्थित हुए और न ही लालू परिवार के अन्य सदस्य।


Advertisement

तेजस्वी में बारे में उनके नजदीकी व्यक्तियों ने कहा कि वह बीमार होने की वजह से कार्यक्रम में नहीं आ सके। हालांकि, अब यह साफ हो गया है कि निमंत्रण कार्ड में नाम न होने की वजह से लालू परिवार में नीतीश के प्रति बड़ी नाराजगी पल रही है।

अब इस मामले में राष्ट्रीय जनता दल खुल कर सामने आ गया है। पार्टी ने सीधे तौर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से सवाल किया है कि आखिर इतने बड़े कार्यक्रम के निमंत्रण कार्ड में उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव का नाम क्यों नहीं है।

राष्ट्रीय जनता ने मांग की है कि गलती करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई की जाए।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement