इस रहस्यमयी झील का पानी पीकर मर जाते हैं लोग, कोई नहीं जानता क्यों?

Updated on 10 Jul, 2016 at 12:07 pm

Advertisement

दक्षिण अफ्रीका के लिम्पोपो प्रान्त में स्थित झील फुन्दूजी का पानी पीने वाला इन्सान जीवित नहीं बचता। लेकिन अब तक यह रहस्य ही बना हुआ है कि आखिर ऐसा होता क्यों है। इसका मतलब है यह नहीं है कि इस झील का पानी प्रदूषित है। अब तक वैज्ञानिक इस बात का पता नहीं सके हैं कि आखिर इसमें कौन सा ऐसा तत्व है जो प्राणघातक है।

झील से छेड़खानी है मौत का बुलावा

इस झील के रहस्यों से पर्दा उठाने की कोशिश लगातार जारी है, लेकिन हर बार अलग-अलग तरह की दुर्घटनाएं सामने आ जाती हैं। शुरू में तो इसे मात्र संयोग कह कर टाल दिया गया, लेकिन बाद में जांच करने वाले सतर्क हो गए। अब तो हालत यह है कि झील से किसी तरह की छेड़खानी मौत का बुलावा लगने लगा है।

मुटाली नदी की वजह से हुआ निर्माण


Advertisement

कहा जाता है कि इस झील का निर्माण भूस्खलन की वजह से मुटाली लदी के बहाव के रुक जाने की वजह से हुआ था। इस झील में मुटाली नदी का पानी आकर मिलता है, जिसे बेहद स्वच्छ माना जाता है।

लोग मानते हैं भुतहा

स्थानीय लोग इस झील को भुतहा मानते हैं। दंतकथाओं के मुताबिक वर्षों पहले यहां रहने वाले लोगों ने एक बीमार व्यक्ति को भोजन व आश्रय देने से मना कर दिया था। अपने साथ हुए बुरे व्यवहार से क्रोधित वह व्यक्ति लोगों को शाप देकर झील के पानी में गायब हो गया। स्थानीय लोगों का दावा है कि इस झील से अब भी ड्रम की आवाज़ें तथा जानवरों चीख-पुकार सुनाई देती है।

अजगर को मानते हैं विषैले पानी की वजह

स्थानीय लोगों का यह भी मानना है कि इस झील का पानी एक अजगर की वजह से विषैला हो गया है। लोगों के मुताबिक, यह अजगर झील की रक्षा करता है। इस अजगर को प्रसन्न करने के लिए यहां रहने वाला आदिवासी समुदाय प्रतिवर्ष एक नृत्य-उत्सव आयोजित करता है, जिसमें कुंवारी लडकियां नृत्य करती हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement