Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

इस मंदिर में देवी को चढ़ाई जाती है चप्पलों की माला, वजह जानकर चौंक जाएंगे आप

Published on 7 November, 2016 at 5:50 pm By

मंदिरों में जब भगवान को चढ़ावा चढ़ाया जाता है, तो उसमें मुख्य रूप से फूल-माला, प्रसाद, तेल, दूध घी जैसी चीजें चढाई जाती हैं। लेकिन इस देश में एक ऐसा भी मंदिर है, जहां के पूजन का तरीका बिल्कुल अलग है।

कर्नाटक के कलबुर्गी जिले के आलंदा तहसील में लकम्मा देवी के मंदिर में देवी को खुश करने के लिए चप्पलों की माला चढ़ाई जाती है। साथ ही मंदिर के बाहर लगे नीम के पेड़ पर मन्नत की चप्पल बांधी जाती है।

दरअसल, दीपावली के बाद आने वाली पंचमी के मौके पर इस मंदिर में एक विशेष मेले का आयोजन होता है, जहां देशभर से बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं। इस दिन भक्त देवी से मन्नत मांगते हुए, मंदिर में लगे नीम के पेड़ पर चप्पल की माला बांधते हैं।

इसके पीछे भक्तों की मान्यता है कि नीम के पेड़ में बंधे मन्नत के चप्पल को, देवी मां खुद पहनकर अपने भक्तों की मनोकामना पूरी करती हैं। मन्नत पूरी हो जाने पर भक्त, इस मंदिर में आकर देवी मां को चप्पलों की माला चढाते हैं।


Advertisement



साथ ही लोगों की यह भी मान्यता है कि लक्कमा देवी चढाई गई इन मन्नत की चप्पलों को पहनकर रात के वक्त गांव का भ्रमण करती हैं और गांव की रक्षा करती हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यहां के ग्रामीणों का मानना है कि पहले इस मंदिर में  देवी मां को प्रसन्न करने के लिए जानवरों की बलि चढाई जाती थी, लेकिन जानवरों की बलि देने पर प्रतिबन्ध लगने के बाद, बलि के बदले चप्पल चढ़ाने की परंपरा की शुरुआत हुई।

इसे लेकर ग्रामीण कहते हैं कि बलि न चढ़ने के कारण देवी क्रोधित हो गईं थी, जिसके बाद एक ऋषि ने तपस्या कर उन्हें शांत किया और तब बलि के बदले चप्पल चढ़ाने की प्रथा शुरू हुई।


Advertisement

देश में कई और ऐसे  मंदिर है जो अपने पूजन के तरीके को लेकर चर्चा का विषय बने हुए हैं। ऐसा ही एक मंदिर है राजस्थान के नागौर में, जहां माता के मंदिर में प्रसाद के रूप में शराब चढ़ाई जाती है।

Advertisement

नई कहानियां

क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए

क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए


G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!

G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!


Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा

Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा


Charles Macintosh ने किया था रेनकोट का आविष्कार, कभी किया करते थे क्लर्क की नौकरी

Charles Macintosh ने किया था रेनकोट का आविष्कार, कभी किया करते थे क्लर्क की नौकरी


जानिए क्या है Google’s Birthday Surprise Spinner, बच्चों से लेकर बड़ों में है इसका क्रेज़

जानिए क्या है Google’s Birthday Surprise Spinner, बच्चों से लेकर बड़ों में है इसका क्रेज़


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Culture

नेट पर पॉप्युलर