Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

कुलभूषण जाधव मामले में भारत के इन मीडिया हाउसेस ने दिया पाकिस्तान का साथ ?

Published on 20 February, 2019 at 7:40 pm By

इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस यानि आईसीजे में कुलभूषण जाधव मामले को लेकर सुनवाई चल रही है। अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट में फिलहाल पाकिस्तान और भारत अपनी-अपनी दलीलें रख रहे हैं। इस मामले में भारत का पक्ष रखते हुए वकील हरीश साल्वे ने कोर्ट में कहा है कि पाकिस्तान ने इस मामले में वियना संधि का उल्लंघन किया है। लिहाजा कंसुलर एक्सेस के बिना कुलभूषण जाधव की गिरफ्तारी को गैरकानूनी घोषित किया जाना चाहिए। अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में भारत और पाकिस्तान को अपना अपना पक्ष रखने के लिए एक दिन का समय दिया गया। सोमवार को भारत की ओर से वकील हरीश साल्वे ने अपना पक्ष रखा था।


Advertisement

लेकिन मंगलवार को पाकिस्तान के काउंसलर खवार कुरैशी ने अपने पक्ष को मजबूत करने के लिए भारतीय मीडिया की रिपोर्ट्स का हवाला दिया। पाकिस्तान की तरफ से पेश की गई इस दलील ने भारत को हैरत में डाल दिया। मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया था कि कुलभूषण जाधव भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ के एजेंट हैं और पाकिस्तान में जासूसी कर रहे हैं।

 

पाकिस्तान का पक्ष रख रहे खवार कुरैशी ने जिन-जिन मीडिया रिपोर्ट्स का हवाला दिया उसमें साल 2017 में द इंडियन एक्सप्रेस के पत्रकार करण थापर द्वारा लिखे गए एक लेख का हवाला दिया गया। करण थापर ने इस लेख में जाधव के संबंध में विदेश मंत्रालय के रुख पर सवालिया निशान खड़ा किया था। इसके अलावा पाकिस्तान कांउसलर ने भारत के अन्य लेख का भी जिक्र किया जिसे द क्विंट ने प्रकाशित किया था। इस लेख को चंदन नंदी ने लिखा था। लेख में आरोप लगाया गया था कि कुलभूषण जाधव के पास दो पासपोर्ट हैं। एक उनके नाम पर है और दूसरा हुसैन मुबारक पटेल नाम का। जो इस बात को साबित करता है कि वो रॉ के लिए पाकिस्तान में जासूसी कर रहे थे।

इस ख़बर के आते ही सोशल मीडिया पर भी लोगों ने अपनी प्रतिक्रियाएं देनी शुरू कर दी।

 

 

बता दें कि ये पूरा मामला मार्च 2006 का है जब पाकिस्तानी सैनिकों ने कुलभूषण जाधव को बलूचिस्तान प्रांत से हिरासत में लिया था। कुलभूषण की गिरफ्तारी के बाद पाकिस्तान ने उनपर देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने और अफगानिस्तान में जासूसी करने के संगीन आरोप लगाए थे। इस मामले में पाक की मिलिट्री कोर्ट ने जाधव को 10 अप्रैल 2017 को मौत की सज़ा सुना दी थी। लेकिन कुलभूषण जाधव की सज़ा पर रोक लगाने के लिए भारत ने अंतर्राष्ट्रीय कोर्ट में अपील की जिसके बाद आईसीजे ने मामले की सुनवाई पूरी न होने तक कुलभूषण की सजा पर रोक लगा दी।


Advertisement

भारतीय मीडिया के इस तरह अपने ही देश के खिलाफ़ रिपोर्ट्स प्रकाशित करने को लेकर आपकी क्या राय है, कमेंट बॉक्स पर हमें ज़रूर लिखें।

Advertisement

नई कहानियां

इस फ़िल्म के साथ ही कंगना बन जाएंगी सबसे ज़्यादा फ़ीस लेने वाली एक्ट्रेस!

इस फ़िल्म के साथ ही कंगना बन जाएंगी सबसे ज़्यादा फ़ीस लेने वाली एक्ट्रेस!


धोनी ने 6 भाषाओं में बेटी से पूछे सवाल, जीवा के क्यूट जवाब इंटरनेट पर वायरल

धोनी ने 6 भाषाओं में बेटी से पूछे सवाल, जीवा के क्यूट जवाब इंटरनेट पर वायरल


दीपिका पादुकोण ने शेयर किया ‘छपाक’ का पहला लुक, तारीफ़ करते नहीं थक रहे लोग

दीपिका पादुकोण ने शेयर किया ‘छपाक’ का पहला लुक, तारीफ़ करते नहीं थक रहे लोग


आमिर ख़ान का ये दद्दू अवतार आपने देखा क्या?

आमिर ख़ान का ये दद्दू अवतार आपने देखा क्या?


PAN कार्ड के लिए ऑनलाइन कर सकते हैं आवेदन, फ़ॉलो करें ये आसान स्टेप्स

PAN कार्ड के लिए ऑनलाइन कर सकते हैं आवेदन, फ़ॉलो करें ये आसान स्टेप्स


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर