मोदी सरकार के ये मंत्री 30 साल पहले थे कुलभूषण जाधव के बैचमेट, एक साथ ज्वाइन की थी NDA

author image
4:46 pm 14 Apr, 2017

Advertisement

जासूसी के आरोप में पाकिस्तान में गिरफ्तार हुए भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की यह कहानी शायद ही आपको पता हो।

मोदी सरकार में मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर पाकिस्तान की जेल में कैद कुलभूषण जाधव के बैचमेट रह चुके हैं। 30 साल पहले नेशनल डिफेंस अकादमी के 77वें बैच में केंद्रीय राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर और कुलभूषण जाधव एक साथ थे।

Jadhav

जहां एक ने नौसेना में शामिल होकर देश को अपनी सेवाएं दी और अब उन्हें पाकिस्तान में कथित जासूसी के आरोप में फांसी की सजा मुकर्रर की गई है। वहीं, दूसरी ओर एथेंस ओलिंपिक में डबल ट्रैप स्पर्धा में रजत पदक विजेता राठौर केंद्र सरकार में मंत्री बन गए।

पूर्व नौसैनिक कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान की सैन्य अदालत द्वारा सुनाई गई मौत की सजा की भारतीय संसद से लेकर देशवासियों के बीच कड़ी आलोचना हो रही है।

लोकसभा में भी यह मुद्दा गूंजा। जब इस मुद्दे पर लोकसभा में चर्चा हुई उस वक्त वहां मौजूद राज्यवर्धन सिंह राठौर ने इस पर अधिक बातचीत नहीं की, लेकिन वह विशेष रूप से चिंतित दिखाई दिए।

Rathore

हालांकि, राठौर ने मीडिया से बातचीत में बताया कि वह और कुलभूषण 1987 में नेशनल डिफेंस एकेडमी (एनडीए) में बैचमेट थे। यानी 30 साल पहले दोनों ने एक साथ एनडीए ज्वाइन की थी। उन्होंने कहाः

“हम एनडीए में बैचमैट थे। इसलिए इस मुद्दे पर बात करना मेरे लिए अनुचित होगा, लेकिन मैं यह कह सकता हूं कि भारत सरकार पाकिस्तान को इस कदम से रोकने के लिए हर संभव राजनयिक और अन्य कदम उठाएगी। सरकार इस मुद्दे को सही प्लेटफॉर्म पर ले जा रही है।”

कुलभूषण जाधव ने साल 1987 में एनडीए ज्वाइन की थी। एक साल के कोर्स के बाद 1991 में कुलभूषण जाधव भारतीय नौसेना की इंजीनियरिंग शाखा में नियुक्त किए गए। 14 साल अपनी सेवाएं देने के बाद उन्होंने रिटायरमेंट ले लिया। उसके बाद वह  बिजनेस शुरू करने के उद्देश्य से ईरान के चाबहार चले गए, जहां से उन्हें कथित  तौर पर पाकिस्तानी एजेंसियों ने अगवा कर लिया और अब भारतीय जासूस बनाकर पेश किया जा रहा है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement