बंगाल में लड़कियों के शार्ट्स पहनकर खेलने पर हो गया हंगामा, भीड़ ने पार की अपनी हद

author image
Updated on 5 May, 2018 at 3:29 pm

Advertisement

हाल ही में कोलकाता से मॉरल पुलिसिंग का एक बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया था। जहां भीड़ ने मेट्रो में सफर कर रहे युवक-युवती की इसलिए पिटाई कर दी थी, क्योंकि वे दोनों एक दूसरे के बेहद पास खड़े थे और गले लग रहे थे। इस घटना की तस्वीर में साफ देखा गया कि युवक-युवती पर हमला करने वालों में ज्यादातर बुजुर्ग शामिल थे।

 

 


Advertisement

इस घटना की पूरे देश में निंदा हो रही है। लोग कैंपेन चला रहे हैं। कोलकाता के दमदम मेट्रो स्टेशन के बाहर लोगों ने एक दूसरे को गले लगाया और चेतावनी दी कि जोड़े को पीटने वालों में हिम्मत है तो उन्हें रोककर दिखाएं।

 

 

प्रदर्शन कर रहे लोगों ने कहा कि किसी को गले लगाना कोई गलत नहीं हैं। यह एक दूसरे के प्रति स्नेह दर्शाता है। ऐसे में गले लगने वालों की सार्वजनिक तरीके से मेट्रो के अंदर पिटाई होना बहुत ही शर्मनाक है।

मगर ऐसा ही एक और वाकया 2 मई को फिर से दोहराया गया। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कोलकाता में महिलाओं के एक समूह ने लोकल स्पोर्ट्स क्लब में घुसकर खूब हंगामा किया। इन महिलाओं ने ऐसा क्यों किया इसका कारण जानकर आपको अचरज होगा।

 

 



हावड़ा के शिबपुर इलाके के स्‍पोर्ट्स क्‍लब में ये महिलाएं जबरन घुस आईं। इन महिलाओं को टी-शर्ट्स और शॉर्ट्स पहनकर क्‍लब में प्रैक्टिस करने आ रही लड़कियों से दिक्कत थीं। उनका कहना था लड़कियों को इस तरह खेलने से रोकना चाहिए।

 

लड़कियों के शॉर्ट्स और टी-शर्ट्स पहनकर खेलने को इन महिलाओं ने अभद्र करार दिया। क्‍लब में खेलने आने वाली लड़कियां 8 से 12 साल की उम्र की हैं।

 

सांकेतिक तस्वीर

 

महिलायों का ये रवैया देखकर वहां मौजूद क्लब का स्टाफ, लड़कियां और उनके अभिभावक हैरान रह गए।

 

हद तो तब हो गई जब प्रदर्शन कर रही महिलाओं ने टेबल टेनिस बोर्ड्स की फेंसिंग को नोच डाला और बच्‍चों के सामने ही अभद्र भाषा इस्‍तेमाल करने लगीं। महिलाओं के इस बर्ताव के कारण क्‍लब अधिकारियों को मजबूरन प्रैक्टिस रोकनी पड़ी।

 

 

अब आप बताएं जो देश की जानी-मानी महिला खिलाड़ी टी शर्ट्स और शॉर्ट्स में अंतरराष्ट्रीय मंच पर खेलती हैं, क्या वह सब अभद्र हैं ? स्पोर्ट्स क्लब में जाकर हंगामा करने वाली नैतिकता का झंडा लिए निकली इन अनैतिक महिलाओं को जरा समझ होनी चहिए कि उनका ये कृतज्ञ बेहद ही शर्मनाक है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement