आखिर कोलकाता पुलिस के जवान क्यों पहनते हैं सफेद वर्दी ?

author image
5:28 pm 25 May, 2017

Advertisement

जब पुलिस की वर्दी की बात चलती है तो हमारे जेहन में खाकी वर्दी का ख्याल आता है। भारत में पुलिस आमतौर पर खाकी वर्दी में ही दिखती है।

हालांकि, कोलकाता में ऐसा नहीं है। कोलकाता पुलिस के न सिर्फ जवान, बल्कि अधिकारी भी सफेद वर्दी पहनते हैं। देश में कोलकाता ही एकमात्र ऐसा शहर है जहां की पुलिस सफेद वर्दी से काम चलाती है। अब आपके जेहन में यह सवाल उठ रहा होगा कि आखिर ऐसा क्यों है।

कोलकाता पुलिस के इस ड्रेसकोड को डिकोड करने के लिए इसका इतिहास जानना बेहद जरूरी है।

ब्रिटिश शासनकाल में वर्ष 1845 में कोलकाता पुलिस का गठन किया गया था। इसकी तुलना ब्रिटिश पुलिस स्कॉटलैन्ड यार्ड से भी की जाती है। वर्ष 1947 में भारत को आजादी मिली, लेकिन कोलकाता पुलिस के ड्रेसकोड के रूप में अंग्रेजों की निशानी अब भी मौजूद है।


Advertisement

अंग्रेजों द्वारा कोलकाता पुलिस के ड्रेसकोड को सफेद रखने के पीछे एक वैज्ञानिक कारण है। समुद्र के बेहद करीब होने की वजह से कोलकाता की जलवायु देश के अन्य इलाकों से बेहद अलग है। यहां साल भर न केवल गर्मी रहती है, बल्कि वातावरण में नमी भी बरकरार रहती है। सफेद रंग की वर्दी के चुनाव के पीछे मूल रूप से यही वजह रही थी।

हालांकि, जब पश्चिम बंगाल पुलिस की बात होती है तो उनकी वर्दी खाकी ही है। वर्ष 1861 में अंग्रेजों ने बंगाल पुलिस का गठन किया था।

बंगाल पुलिस व कोलकाता पुलिस में कार्यप्रणाली का भी अंतर है। बंगाल पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी सीधा राज्य सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपते हैं, जबकि कोलकाता पुलिस के साथ ऐसी बाध्यता नहीं है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement