कोलकाता में बना भारत का सबसे महंगा पंडाल, 10 करोड़ रुपए हुए हैं खर्च

Updated on 24 Sep, 2017 at 1:08 pm

Advertisement

कोलकाता दुर्गापूजा को लेकर दुनियाभर में प्रसिद्ध है। लोग यहां साल भर इस पूजा का इंतज़ार करते हैं और दुर्गोत्सव का खूब आनंद लेते हैं। भारी संख्या में लोग रात के दौरान सड़कों पर उतरते हैं और पंडाल-प्रतिमा देखते हैं। इस बार भी महानगर के पूजा समितियों ने दर्शकों को लुभाने के लिए अनेक थीम पर अपने-अपने पंडाल को सजाया है। ऐसा ही एक पंडाल खूब चर्चा बटोर रहा है।

यह पंडाल बना है लेकटाउन के पास श्रीभूमि में।

लेकटाउन का यह पंडाल बहुचर्चित फिल्म ‘बाहुबली-2’ के माहिष्मति महल के थीम पर बनया गया है। इसे देश का सबसे महंगा पंडाल बताया जा रहा है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बकायदा प्रमाणपत्र जारी कर इसे सबसे महंगा पंडाल घोषित किया है।


Advertisement

110 फीट ऊंचे इस पंडाल को बनाने में लगभग 10 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। करीब तीन महीने तक प्रतिदिन 150 कारीगरों ने लगातार काम कर इसे संवारा है। अभी पंडाल दर्शन ठीक से शुरू भी नहीं हुआ है कि यह चर्चा का विषय बन गया। ‘माहिष्मति पंडाल’ की चर्चा चारों ओर हो रही है, लिहाजा भारी भीड़ होने की संभावना है।

माहिष्मति पंडाल और दुर्गा प्रतिमा को महंगे आभूषण व रत्नों से सजाया गया है। सोने से सुसज्जित माहिष्मती महल के मुख्य द्वार पर सूंड उठाए हुए दो हाथी और 8 सुरक्षा अधिकारी खड़े मिलते हैं। महल के अंदर प्रवेश करने पर बड़ा सा चमकीला झूमर लोगों को आकर्षित करता है।

मां दुर्गा की प्रतिमा को सोने-चांदी और हीरे-जवाहरात से सजाया गया है। इस पंडाल की सुरक्षा में लगभग 300 जवान तैनात किए गए हैं। देश के सबसे महंगे पंडाल देखने जाएं तो थोड़ी सावधानी जरूर रखें। हालांकि सरकार और प्रसाशन ने पूरी सुरक्षा की व्यवस्था कर रखी है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement