जानिए किसके लिए कोहली ने कहा- “2019 वर्ल्ड कप में नंबर 4 पर बैटिंग के लिए परफेक्ट है यह खिलाड़ी”

author image
Updated on 2 Feb, 2018 at 3:35 pm

Advertisement

साउथ अफ्रीका के साथ 6 मैचों की सीरीज के पहले वनडे में भारत ने बेहतरीन जीत हासिल की। यकीनन तीन टेस्ट मैचों के शुरुआती दो मैच हारने के बाद भारत ने तीसरे टेस्ट में जो लड़ाकू जज्बा दिखाया, उससे टीम का मनोबल बढ़ा।

कप्तान विराट कोहली के शतक (112) और तीसरे विकेट के लिए उनकी अजिंक्‍य रहाणे (79) के साथ हुई 191 रनों की साझेदारी की बदौलत टीम इंडिया ने पहला वनडे मैच अपने नाम किया।

 


Advertisement

मेजबान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों में 8 विकेट के नुकसान पर 269 रनों का लक्ष्य भारतीय टीम के सामने रखा। जवाब में भारतीय टीम ने 45.3 ओवरों में ही सिर्फ 4 विकेट खोकर 270 रन बनाते हुए जीत दर्ज कर ली। इस तरह सीरीज में मेहमान भारतीय टीम ने 1-0 की बढ़त ले ली है। यही नहीं, डरबन में साउथ अफ्रीका के खिलाफ यह भारत की पहली जीत रही।

 

 

उधर, भारत ने साउथ अफ्रीका के अजय रथ को भी रोका। साउथ अफ्रीका ने इस मैच से पहले अपनी धरती पर लगातार 17 मैच जीत थे। उसे अंतिम बार इंग्लैंड ने 6 फरवरी 2016 को जोहानिसबर्ग में शिकस्त दी थी।

जहां विराट कोहली ने इस मैच में अपने वन डे करियर की 33 वीं सेंचुरी जड़ी। वहीं, उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने पहले वनडे में अपनी बल्लेबाजी से सभी का दिल जीत लिया। गेंदबाजों ने भी बेहतरीन गेंदबाजी की, जिसके चलते साउथ अफ्रीका 300 के पार नहीं जा सका।

 

 



टीम इंडिया के प्रदर्शन से खुश विराट ने खिलाड़ियों की जमकर तारीफ की। विराट ने कहाः

 

“मैं रहाणे के लिए बहुत खुश हूं, वो टॉप क्लास प्लेयर हैं। हम जानते थे कि इस दौरे पर तेज गेंदबाजी बहुत बड़ा फैक्टर होगा। वो शानदार खेले और तेज गेंदबाजों पर अच्छा अटैक किया।”

 

वहीं भारतीय गेंदबाजों को लेकर विराट ने कहाः

 

‘भुवी और बुमराह से हम यही चाहते थे कि वो एक- दो विकेट निकालें। इसके बाद रिस्टस्पिनर्स की जितनी तारीफ की जाए कम है। दोनों  युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव  शानदार गेंदबाजी की। दोनों पहली बार दक्षिण अफ्रीका में खेल रहे हैं। दोनों बहुत साहसिक हैं और अपने प्लान से गेंदबाजी कर रहे थे, इसीलिए उन्हें विकेट भी मिले। एक कप्तान के तौर पर ये बहुत अच्छी बात होती है कि आपकी टीम में वो खिलाड़ी हों, जिन्हें पता हो कि वो क्या करना चाहते हैं।’

 

उधर, हमेशा से मिडिल ऑर्डर की परेशानी से जूझती टीम इंडिया को बाहर निकालने के लिए कोहली ने एक खिलाड़ी पर भरोसा भी जताया।

 

कोहली ने कहा कि मिडिल ऑर्डर पर बल्लेबाजी करने का मसला हमेशा से कनफ्यूज करता है और यह कुछ समय तक और जारी रहेगा।हालांकि, कोहली ने इंग्लैंड में अगले साल होने वाले वर्ल्ड कप के लिए अजिंक्य रहाणे को चौथे नंबर का प्रबल दावेदार बताया। कोहली ने कहाः

“हमने पिछले कुछ महीनों में कई विकल्प आजमाए। वर्ल्ड कप से पहले बहुत सारी सीरीज और समय नहीं बचा है लिहाजा हम सारे विकल्प आजमाना चाहते हैं। .. मैने पहले भी कहा है कि अजिंक्य रहाणे तीसरे सलामी बल्लेबाज हो सकते हैं, लेकिन वह वर्ल्ड कप ( 2015 ) में चौथे नंबर पर बल्लेबाजी कर चुके हैं तो वह चौथे नंबर के प्रबल दावेदार हैं।”

twitter


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement