धोनी पर उंगली उठाने वालों को कोहली ने दिया मुंहतोड़ जवाब

author image
Updated on 9 Nov, 2017 at 2:57 pm

Advertisement

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के टी20 क्रिकेट में भविष्य को लेकर उठते सवालों पर विराट कोहली ने निशाना साधा है। हाल ही में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली गई टी -20 सीरीज में धोनी की परफॉरमेंस को कई आलचकों ने कठघरे में लाकर खड़ा किया।

राजकोट में खेले गए दूसरे टी20 में 37 गेंदों में 49 रन बनाने वाले धोनी पर उनके स्ट्राइक रेट और बाउंड्री न लगा पाने की नाकामी के लिए सवाल उठे। कईयों ने उन्हें रिटायर लेने और युवाओं को मौका देने की सलाह दे डाली।

धोनी के खेलने के तरीके और उनकी आलोचना करने वालों को खुद विराट कोहली ने जवाब दिया है। तीसरे मैच की जीत के साथ सीरीज को 2-1 से अपने नाम करने के बाद विराट ने धोनी पर उठे इन सवालों के बेबाकी से जवाब दिए और अपने वरिष्ठ खिलाड़ी के समर्थन में डटकर खड़े हुए।

kohli

intoday


Advertisement

मैच के बाद विराट कोहली ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहाः

“मुझे समझ नहीं आ रहा कि लोग उन पर उंगली क्यों उठा रहे हैं। अगर मैं एक बल्लेबाज के तौर पर तीन बार फेल होता हूं तो कोई भी मुझ पर उंगली नहीं उठाएगा, क्योंकि मैं 35 साल से ज्यादा का नहीं हूं। वह फिट हैं, वह सभी टेस्ट पास कर रहे हैं। वह हर तरीके से मैदान पर अपना योगदान दे रहे हैं। वह हरंसभव अंदाज में टीम की मदद करते हैं, फील्ड पर भी और बैट से भी। अगर आप श्रीलंका व ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज देखें तो उन्होंने काफी अच्छा किया है और इस सीरीज में उन्हें बैटिंग के लिए ज्यादा वक़्त ही नहीं मिला।”

कुछ पूर्व भारतीय खिलाड़ियों ने धोनी के बैटिंग आर्डर और धीमे खेल पर भी सवाल खड़े किए थे।

इस पर भी कोहली धोनी के बचाव में उतरे और कहाः

“आपको समझना होगा कि जिस क्रम पर वह बल्लेबाजी के लिए आते हैं, वहां रन बनाना आसान नहीं होता। यहां तक कि इस सीरीज मे हार्दिक पंड्या भी स्कोर नहीं कर पाए हैं। तो हम सिर्फ एक ही आदमी पर निशाना क्यों साध रहे हैं। लोगों को समझना चाहिए कि जब नए बॉल से बोलिंग हो रही हो और आपके शुरुआत के 4 विकेट आउट हो चुके हैं, तो बैटिंग में अलग तरह का दबाव होता है। इस दौरान रन बनाना आसान नहीं होता।”

कोहली ने आगे कहाः

“जब वह (धोनी) बल्लेबाजी के लिए आए तब रन रेट 8.5-9.5 तक पहुंच चुका था। विकेट भी हर बार एक जैसा नहीं होता। बाद में आए बल्लेबाज के मुकाबले जो बल्लेबाज पहले से क्रीज पर रहता है उसके लिए स्ट्राइक करना ज्यादा आसान होता है।”

बता दें कि धोनी अक्सर नंबर 5 और 6 पर बैटिंग के लिए उतरते हैं। इससे उन्हें बैटिंग जमाने के लिए काफी कम समय मिलता है। अगर शुरुआत के ओवर में 3-4 विकेट जल्दी आउट हो जाए, तो मैच में दबाव आ जाता है। कोहली कहते हैंः

“ऊपर से, जो बल्‍लेबाज टॉप ऑर्डर में खेलते हैं, वे गेंद को आसानी से स्‍ट्राइक कर पाते हैं, बनिस्बत निचले क्रम में आने वाले बल्‍लेबाज के। और जिस तरह के विकेट पर हमने खेला, दूसरी पारी में ज्‍यादा दिक्‍कत हुई। आपको हर चीज का अंदाजा लगाना होगा।”

दरअसल, धोनी राजकोट टी20 में प्रदर्शन के बाद से आलोचकों के निशाने पर हैं। धोनी राजकोट टी20 में 49 रन बनाकर आउट हो गए थे। इसके बाद अजीत अगरकर और वीवीएस लक्ष्मण जैसे बल्लेबाजों ने कहा था कि धोनी का समय अब पूरा हो गया है।

कोहली ने कहा कि लोगों को ज्यादा धैर्य रखने की जरूरत है। कोहली के अनुसार धोनी ऐसे खिलाड़ी हैं जो समझते हैं कि उनका क्रिकेट कहां है। इससे पहले भी विराट हाल ही में एक यूट्यूब चैनल पर दिए गए इंटरव्यू में धोनी के समर्थन में आए थे।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement